Previous
Next

Tuesday, 28 February 2017

गुर मेहर कौर एक शहीद  की बेटी ,क्या अब ऐसे ही शहीदों को सम्मान दिया जाएगा ?

गुर मेहर कौर एक शहीद की बेटी ,क्या अब ऐसे ही शहीदों को सम्मान दिया जाएगा ?



बहुत मुश्किल होता हैं शहीदों के परिवार वालों के लिए ,उन अपनों के बिछड़ने का जिन पर उनका पूरा भविष्य टिका होता हैं । गुर मेहर के दादा को आज भावुक देखा  मीडिया चेनल पर “भाव से बिहल हो इस शहीद के पिता ने कहा की जब मेरा बेटा शहीद हुआ तब भाजपा सरकार थी ।

Monday, 27 February 2017

मैं एबीवीपी से नहीं डरती:- मेहर कौर #StudentsAgainstABVP.'

मैं एबीवीपी से नहीं डरती:- मेहर कौर #StudentsAgainstABVP.'


रामजस कालेज में हुई  घटना के विरोध में लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा गुरमेहर ने अपना फेसबुक प्रोफाइल तस्वीर बदल दिया. इस तस्वीर में लिखा था, 'मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हूं, मैं एबीवीपी से नहीं डरी हूं. मैं अकेली नहीं हूं. देश का हर छात्र मेरे साथ ही. #StudentsAgainstABVP.' कुछ ही देर में गुरमेहर का पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. उसपर भारी संख्या में कमेंट आने शुरू हो गए. जालंधर की रहने वाली शहीद की बेटी ने एबीवीपी की हरकत को क्रूर और लोकतंत्र के लिए खतरा बताया है...

डीयू की छात्रा गुरमेहर ने 140 शब्दों के फेसबुक पोस्ट में हंगामे का वर्णन किया है. गुरमेहर एबीवीपी के खिलाफ 'टायरनी ऑफ फियर' नाम से फेसबुक कैंपने भी चला रही है, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है

इस शहीद की बेटी को आज भक्त अपशब्दों से सम्मानित कर रहे हैं ।
क्या शहीदों के लिए यही सम्मान हैं इन सबके दिल में ?

में ऐसे लोगो को यही कहूँगा की इस शहीद की बेटी को अपशब्द बोल कर आप सब अपने कमजोर होने का अहसास करा रहे हो ।

ठीक वैसी ही सत  युग की मानसिकता के साथ ,जिसने सीता माँ को बनवास दिया था । उसने गलत क्या कहा पहले वो तो समझिये शूरवीरो !

महिला सम्मान की बात करने वालो क्या देशभक्ति के नाम और तिरंगा हाथ में उठा कर ही देश भक्ति साबित कर सकते हो ,क्युकी उसकी ज़रुरत भाजपा के दोहरे चरित्र वाले संगठनों को ,पहले अफज़ल समर्थक महबूबा से भजपा की सरकार के बारे में भी प्रकाश डाल देते ?

मेहर कोर आपके साथ इस देश के लोकतंत्र पर विश्वास रखने वाले सवा सौ करोड़ लोग साथ हैं ।

मेहर कोर पर भाजपा की ओछी हरकते बदस्तूर जारी हैं ,सबसे दुर्भाग्य पूर्ण तो तब हो जाता हैं जब वीरेंद्र सहवाग एक पोस्ट डालते हैं और ट्वीट करते हैं  ,एक शहीद की बेटी पर तंज़ कसते हैं।

 “बैट में है दम! इस ट्वीट के साथ वीरेंद्र सहवाग ने एक फोटो भी शेयर की है जिसमें लिखा है कि दो बार तिहरा शतक मैंने नहीं, मेरे बैट ने लगाया
शहीद की इस बेटी ने अपने वीडियो में डाला था की उसके पिता को पकिस्तान ने नहीं एक युद्ध में वो मारे गये ।

शायद सह्बाग ने इसी पर चुटकी ली । दुर्भाग्य पूर्ण सही तरह से अपनी बात सहवाग कह नहीं पाए उनका ट्वीट कुछ इस तरह होना चाहिए था “किर्केट न होता तो न सह्बाग के शतक लगते और न वो इतने बड़े खिलाड़ी बनते ? 

मुझे लगता हैं सच तो यही हैं । अगर पाक शत्रु देश तो उसको मोदीजी ने स्पेशल केटेगिरी में क्यों रखा हैं ?
उनके साथ व्यापार क्यों हो रहा हैं । समझ नहीं आता देश को किस आग में झुकने की तैयारी में हैं ये नौसिखिया भाजपाई नेता ?

अब किरण रिजीजू भी मैदान में कूदे  और ट्वीट किया ।

“इस नौजवान लड़की के दिमाग़ में गंदगी कौन भर रहा है? एक मज़बूत सशस्त्र बल युद्ध को रोकता है. भारत ने कभी किसी पर हमला नहीं किया, लेकिन भारत जब भी कमज़ोर था तब हमले हुए ।

क्या किरण रिजीजू ये कहना चाहते हैं की भाजपा के शासन काल में जब कारगिल हुआ भारत सबसे कमजोर था ?

और वो स्वीकार कर रहे हैं जब भारत की संसद पर हमला हुआ तब भारत कमजोर था ?
एक भाजपा सांसद तो मसखरी में और आगे निकल आये जब उन्होंने गुरु मेहर की तस्वीर के साथ दाऊद की तस्वीर डाल कर ये लिखा मुंबई बम धमाको में बमों ने नागरिको की जान ली मेने नहीं “

प्रताप जी दंगो की वज़ह से लोग मरे थे। जब भाजपाइयो ने राम मंदिर के नाम पर बड़े पैमाने पर साम्प्रदायिकता की आग पूरे देश में लगा दी थी ।


शहीदों का डी.एन ए बहुत जिद्दी होता हैं मत टकराव करो भाजपा के लोगो पछताओगे ।
 वज़न और मोटापे को इन तरीको से कम किया ।how to loose your weight ?

वज़न और मोटापे को इन तरीको से कम किया ।how to loose your weight ?



में अपने ह्रदय में स्टंट डालने के बाद ,थोड़े दिन एक अलग तरह की उलझन में था बीमारी की सारी रिपोर्ट एच डी एल से ले कर कोलिस्ट्रोल तक सब कुछ सीमा में ही था बड़े थे तो  ट्राईग्लीसराइड का लेवल , चिंता  का विषय तो था ही ज्यादा मोटापा कभी हावी नहीं होने दिया था ।

Friday, 24 February 2017

राहुल गाँधी को साज़िशे रोक न पाएंगी

राहुल गाँधी को साज़िशे रोक न पाएंगी


कांग्रेस ने 2004 से 2014 के अपने केंद्र के शासन काल में जितना अच्छा काम किया वह कोई सरकार दोहरा नहीं सकती। कमी रही अपने काम को जनता तक न पहुचा पाने की।

शिव भोले हैं सरल हैं समझो तो सही

शिव भोले हैं सरल हैं समझो तो सही



भोले भाले से भोले ,शिव को समझो तब शब् का अर्थ समझ आता हैं । शिव के घर को जानो तब शमशान का ज्ञान आसान हो जाता हैं । कैलाश को समझो तब कैलाशवासी के महत्व का दर्शन एक नयी थ्योरी के साथ आपके और हमारे आस पास उपस्थिति का अहसास कराता हैं ।