Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार
जहाँ एक और साम्प्रादियिकता का दानव अपनी खून की प्यासी जीभ लपलपा रहा था इंसानों को देख कर  और अपने दूतो को जनता के बीच औवेशी और साक्षी ,साध्वी के रूप में लोगो को मदांध करने की योजना बना रहा था वही आने वाला समय दुर्दिनो की तरफ इशारा कर रहा था गिरता शेयर बाज़ार ,महंगी होती खाने पीने की चीज़े…
Read More...

सत्ता की मेवा

सत्ता मिल जाने का मतलब आज के परिद्रश्य में जन सेवा नहीं पर जनसेवा से जो मेवा मिले उसे मत छोडो मध्य भारत के…