Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

क्या कभी खुल पायेंगे धनुष टेंक को चीन की बेरल देने वालो के नाम

सरकार के हर विभाग में जम कर ऊँगली और भ्रष्टाचार के नए नए और नायब तरीके इस्तेमाल हुए . सरकार के प्रतिष्ठा पूर्ण संस्थान भी राष्ट्रभक्त और और मोदी भक्तो में बंटे साफ़ दिखाई दिए

0 3,444

अपने बीते कार्यकाल में पी एम् मोदी का काल सबसे अधिक विवादों सेल्फियो .महंगे सूट बूट महंगी दलाली महंगी दोस्ती के ही नाम रहा . सरकार के हर विभाग में जम कर ऊँगली और भ्रष्टाचार के नए नए और नायब तरीके इस्तेमाल हुए . सरकार के प्रतिष्ठा पूर्ण संस्थान भी राष्ट्रभक्त और और मोदी भक्तो में बंटे साफ़ दिखाई दिए . ऐसा भी पहली बार हुआ मीडिया से ले कर आस्थाए अलग अलग नज़र आयी . मीडिया बनाम मीडिया का युद्ध इतना रोचक निकला जिन खबरों को जितना दबाने की कोशिश की गयी वो उतनी ही मुखर हो कर उभरी और नारों मे बदलती दिखाई दी बदलाब की बयार से ले कर ,मजबूर और मायूस नेता जैसी बनायी गयी राहुल गाँधी की छवि और मज़बूत बन कर उभर कर आयी .

शरद पवार ने गांधी परिवार को ले कर बोला मोदी पर बड़ा हमला

रक्षा मंत्रालय में मंत्री थे लेकिन सिर्फ एक कठपुतली की तरह राफेल पर अम्बानी की भागीदारी और पी एम् मोदी की चुप्पी ने जैसे बिना कहे बहुत कुछ स्वीकार कर लिया था . इस बीच पिछले साल भारत की बोफार्स कहे जाने वाले धनुष टेंक की बैरलो को ले कर चर्चा आम हो गयी .ये जानकारी   


 

ये समाचार दैनिक  जागरण में छापा गया साथ ही 11 जनवरी 2019 को एक रिपोर्ट भी छापी गयी की जर्मनी बैरलो के नाम पर चीनी बैरलो की आपूर्ति  की गयी रिपोर्ट अगले ही दिन साईट से हटा दी  गयी ज़िक्र ज़रूर गूगल पर चीन का पढने को मिल जायेगा लेकिन उस कम्पनी का नाम सार्वजनिक नहीं किया जाएगा जो मोटा भाई की कम्पनी हैं . जबल पुर की गलियों में फुसफुसाहट हैं की ज्योति लिमिटेड कम्पनी जो बैरल की सप्लाई कर रही हैं ,उसमे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की भागीदारी हैं . अब ये केवल एक अफवाह हैं या सच जिसको दबा दिया गया हैं . आने वाले समय मैं सारे काले चिठ्ठे खुल ही जायेंगे .

बहुत सारी खबरे अचानक से गायब हो जाती हैं देश और सेना के मनोबल के नाम पर देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ चुपचाप सूनसान अंधेरो में हो रहा हैं ये वो अँधेरे हैं जो सत्ता के इशारे पर सच की रौशनी को निगल जाते हैं .

ABP न्यूज़ चेनल के स्टिंग ओपरेशन से खुली योगी सरकार की पोल भाजपा की किरकिरी

 

सीबीआई ने मामला भी दर्ज किया पर उस मामले को कहाँ कब कैसे गुमनाम बना दिया गया ये सीबीआई बनाम सीबीआई की लड़ाई में कही गूम  हो गया …..

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.