Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

राहुल गांधी और प्रियंका की शेरनिया देंगी पी एम् मोदी को लोकसभा 2019 में चुनौती

अब राहुल गांधी की शेरनिया देंगी पी एम् मोदी को लोकसभा 2019 में चुनौतिया . जी हाँ एक नया तारो ताज़ा संगठन , ले कर आ रहे हैं कांग्रेस अध्यक्ष जिनको संगठन के मेनेजमेंट का बादशाह कांग्रेस में जाना जाता हैं

0 21,702

 

अब राहुल गांधी की शेरनिया देंगी पी एम् मोदी को लोकसभा 2019 में चुनौतिया . जी हाँ एक नया तारो ताज़ा संगठन , ले कर आ रहे हैं कांग्रेस अध्यक्ष जिनको संगठन के मेनेजमेंट का बादशाह कांग्रेस में जाना जाता हैं .बात दीगर हैं की उनके गुण बहुत कम देश की जनता के सामने आये . वो मेनेजमेंट और एडमिनिस्ट्रेशन के शानदार खिलाड़ी रहे हैं . उन्होंने पहली बार सासद चुने जाने पर एक मूवमेंट चलाया था . आम आदमी के सिपाही ,और वह ट्रेनिग ले रहे थे उनके साथ दिल्ली के वर्तमान सी , एम्  अरविन्द कजरीवाल ऐसा कुछ चर्चाओं में चला था . सबूत शायद होंगे भी . पर मेरे पास उडती खबर ही हैं .

अब राहुल गाँधी ने महिलाओं को आगे लाने के लिए लीक से हट कर पहल चालू की हैं . इस रिपोर्ट को पढ़े और जाने राहुल गांधी राजनीति में अब सयाने हो चले हैं .

वोट का अधिकार पाते ही युवतियों को राजनीति में सक्रिय करने के लिए राहुल गांधी महिला कांग्रेस की एक नई विंग बनाने की तैयारी में हैं. इस नई विंग में कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की आयु सीमा तय की गई है, जिसके तहत 18 से 30 साल की उम्र की युवतियां ही इस विंग में काम करेंगी.

राहुल गांधी के लंदन में कार्यक्रम से भयभीत भाजपा कर रही रद्द करने की कोशिश

आधुनिकता और स्वतंत्रता का प्रतीक ये संगठन होगा इसी लिए इसका ड्रेस कोड भी आधुनिक हैं सवाल 21 वी सदी का हैं . तब भाजपा होशियार कांग्रेस के शेरनिया अब तैयार हैं मुकाबले के लिए .महिला नेता का नाम आते ही, धारणा बनती है कि वह शुद्ध भारतीय परिधान यानी साड़ी या शूट (सलवार कुर्ता) पहनेंगी .

प्रियदर्शिनी कांग्रेस के प्रस्ताव में इस मिथक को तोड़ा गया है. प्रस्ताव के मुताबिक प्रियदर्शिनी कांग्रेस से जुड़ी युवतियों के ड्रेस कोड में टी शर्ट के साथ जीन्स या ट्राउजर होगा. नीले व काले रंग की जीन्स और ट्राउजर के साथ टी शर्ट का रंग प्रयदर्शिनी कांग्रेस में कार्यकर्ता की वरिष्ठता के आधार पर तय होगा. पार्टी सूत्रों की मानें तो अभी प्रस्ताव में टी शर्ट के रंग तय नहीं किए गए हैं. जल्द इसको लेकर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ उनकी टीम की बैठक में रंगों का तय किया जाएगा.

सिद्धू पर मोदी की चिढ और घबराई भाजपा का मोदी मीडिया, सिद्धू के सम्मान से

दादी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नाम पर राहुल ने इस विंग को ‘प्रियदर्शिनी कांग्रेस’ नाम दिया है. राहुल गांधी के इशारे पर उनकी टीम ने इसका प्रस्ताव तैयार कर उन्हें सौंप दिया है. माना जा रहा है कि 19 नवंबर को इंदिरा गांधी की जयंती के मौके पर दिल्ली में इसके गठन की घोषणा होगी.

महिला कांग्रेस की तर्ज पर प्रियदर्शिनी कांग्रेस को राष्ट्रीय स्तर से लेकर ब्लॉक स्तर तक तैयार किया जाएगा. विंग से जुड़ने वाली तेजतर्रार छात्राओं को प्रियदर्शिनी कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर पर जिम्मेदारी दी जाएंगी.

महिला कांग्रेस की तरह प्रियदर्शिनी कांग्रेस में भी राष्ट्रीय स्तर पर अध्यक्ष, प्रभारी महासचिव, उपाध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष और सदस्य होंगे. इसी तरह प्रदेश, जोन, जिला, तहसील और फिर ब्लॉक स्तर पर प्रियदर्शिनी कांग्रेस का संगठन तैयार किया जाएगा. युवतियों को प्रियदर्शिनी कांग्रेस से स्कूल, कॉलेजों और यूनिवर्सिटी से जोड़ा जाएगा.

आज स्व.भारत रत्न राजीव होते तो देश अपने स्वर्णिम काल में होता एक आंकलन

स्कूल और कॉलेज की उन छात्राओं को, जिनका कांग्रेस और उसकी विचारधारा के प्रति झुकाव है, उन्हें प्रियदर्शिनी कांग्रेस से जोड़ा जाएगा. नियमानुसार प्रियदर्शिनी कांग्रेस में 18 से 30 उम्र की युवतियां काम करेंगे और काम के बदौलत विंग में पद संभालेंगी. 30 साल की उम्र पूरी करते ही उसे महिला कांग्रेस के मुख्य संगठन  जिस स्तर पर वह थी, उसी स्तर पर. यानी अगर वह प्रियदर्शिनी कांग्रेस में ब्लॉक स्तर पर थी, तो महिला कांग्रेस में उसे ब्लॉक स्तर पर ही काम दिया जाएगा .

इस तरह युवतियों को पार्टी से जोड़ने का सिलसिला लगातार  चलेगा  पार्टी सूत्रों का दावा है इसके जरिए जहां महिला कांग्रेस को नई तेजतर्रार नेता मिलेंगी, वहीं उन युवतियों को राजनीति करने का मौका मिलेगा, जिन्हें चाहकर भी राजनीतिक दलों में काम करने का मौका नहीं मिल पाता था.

राहुल गाँधी ने केरल बाढ़ पीडितो की मदद के लिए कार्यकर्ताओ का बढाया हौसला
You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.