Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

राहुल गाँधी और कांग्रेस उडीसा में घेरेंगे भाजपा को बता राफेल का उड़ीसा कनेक्शन

राफेल डील पर पी एम् मोदी सहित पूरी भाजपा घिरती नज़र आ रही हैं . अब इसमें राफेल का उडीसा कनेक्शन सामने निकल कर आ रहा हैं .

0 1,208

राफेल डील पर पी एम् मोदी सहित पूरी भाजपा घिरती नज़र आ रही हैं . अब इसमें राफेल का उडीसा कनेक्शन सामने निकल कर आ रहा हैं . राफेल की नई डील जो मोदी जी ने की हैं उससे उडीसा राज्य को भी भारी हानि उठानी पडी हैं ..क्युकी यहाँ भी कर्नाटक की तरह उडीसा में भी युवाओं को मिलने वाला रोजगार चला गया हैं .

राफल फाइटर एयरक्राफ्ट डील के ओडिशा कनेक्शन पर बताया जाता है कि कोरापुट जिले के सूनाबेड़ा स्थित एचएएल का इंजन मैन्युफैक्चरिंग, ओवरहालिंग, रिपेयरिंग का बुहत बड़ा कारखाना है. यहां पर मिग सिरीज के विमान तथा सुखोई फाइटर विमान पर काम होता है. मिग हर हाल में 2025 तक पूरी तरह से फेजआउट हो जाएगा. सुखोई पर काम चल रहा है और रूस के फिफ्थ जनरेशन एयरक्राफ्ट पर भी काम होना लगभग तय हो गया था.

सिद्धू पर मोदी की चिढ और घबराई भाजपा का मोदी मीडिया, सिद्धू के सम्मान से

हाल ही में यह प्रोजेक्ट रिजेक्ट कर दिया गया. एचएएल के उच्च पदस्थ सूत्र बताते हैं कि फिफ्थ जनरेशन पर काम न मिलने से एचएएल को तगड़ा झटका लगा है. राफल डील पूर्व की भांति होती तो एचएएल सूनाबेड़ा (कोरापुट) का भविष्य चमकने लगता. ओडिशा में युवकों में रोजगार की आशाये जागती .. राफल डील करके फिफ्थ जनरेशन एयर क्राफ्ट का भविष्य अंधकार में चला गया .

कांग्रेस के वार रूम (रकाबगंज दिल्ली) में राफल डील के विरोध में रणनीति बना ली गयी है और राज्य इकाइयों से जिला व ब्लाक स्तर पर विरोध की मुहिम छेड़ने को कहा गया है. यह मुहिम पूरे एक महीने तक चलायी जाएगी. पार्टी के ओडिशा अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने बताया कि राफल डील संबंधी प्रचार सामग्री दिल्ली से भेजी जाएगी. निरंजन  पटनायक ने बताया कि यदि राफल डील में टेक्नोलॉजी हस्तांतरण शामिल होता तो ओडिशा के कोरापुट में एचएएल में इंजन तैयार किया जाता. यहां के हजारों युवकों को प्रत्यक्ष व परोक्ष रोजगार मिलता. केंद्र सरकार ने अंबानी जैसे पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने तथा अपनी जेब भरने के लिए के लिए युवकों के रोजगार के अवसरों से सौदा किया.

राहुल गांधी और प्रियंका की शेरनिया देंगी पी एम् मोदी को लोकसभा 2019 में चुनौती

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मीटिंग से लौटे ओडिशा प्रदेश कांग्रेस के नेता उत्साहित हैं. फाइटर एयरक्राफ्ट राफल डील में हुए कथित भ्रष्टाचार को लेकर ओडिशा में कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता राज्य के 30 जिलों व 314 ब्लाकों के हेडक्वार्टर में धरना प्रदर्शन करेंगे. राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजेंगे. राफल डील पर जनता को जागरूक करने की मुहिम शीघ्र चलायी जाएगी.

उनका कहना है कि उनकी पार्टी जनता के सामने सबूत के साथ जाएगी. बताया गया है कि इस सौदे में देश को 41 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. सीनियर लीडरों को लग रहा है कि राफल सौदे में हुए भ्रष्टाचार के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरा जा सकता है. इसके नतीजे पार्टी के पक्ष में भी हो सकते हैं. कांग्रेस के बड़े नेता देश भर में घूम-घूमकर राफल डील में भ्रष्टाचार को उजागर करेंगे. ओडिशा के लिए प्रभारी भंवर जितेंद्र सिंह के साथ ही आनंद शर्मा और कपिल सिब्बल का दौरा लगभग तय है. पटनायक बताते हैं कि राहुल गांधी का भी कार्यक्रम मांगा गया है.

आज स्व.भारत रत्न राजीव होते तो देश अपने स्वर्णिम काल में होता एक आंकलन
You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.