Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अब करेंगे मीडिया कर्मियों से चाय पर चर्चा

पुन्य प्रसून वाजपेयी और अभिसार शर्मा समेत मिलिंद खांडेकर के साथ ABP मीडिया चेनल समूह ने जिस तरह का बर्ताव किया उसकी गूँज संसद में सुनाई दी .

0 412

पुन्य प्रसून वाजपेयी और अभिसार शर्मा समेत मिलिंद खांडेकर के साथ ABP मीडिया चेनल समूह ने जिस तरह का बर्ताव किया उसकी गूँज संसद में सुनाई दी . कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड्गे ने सरकार को सवालों के कटघरे में खड़ा किया . कांग्रेस ने उन मीडिया कर्मियों को एक तरह से संकेत दिया जो आज कल सरकार की  सच्चाई जनता को बता रहे हैं .कांग्रेस उनके साथ हैं .

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मीडिया से अपने रिश्ते सुधारने की दिशा  में जुट गए हैं. इसी के अंतर्गत  शुक्रवार को राहुल गांधी दिल्ली के करीब 150 पत्रकारों से मुलाकात करने वाले हैं. कांग्रेस के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक यह मुलाकात महाराष्ट्र सदन में 2:30 बजे रखी गई है.

इसमें ज्यादातर वह पत्रकार शामिल हैं जो कि नियमित तौर पर कांग्रेस पार्टी को कवर करते रहे हैं. राहुल गांधी की तरफ से इन सभी पत्रकारों को चाय का न्योता भेजा गया है. माना जा रहा है कि इस मुलाकात में राहुल गांधी मौजूदा तमाम मुद्दों पर अपनी राय जाहिर करेंगे. हालांकि राहुल गांधी के साथ पत्रकारों का यह संवाद अनौपचारिक रखा गया है.

लगभग  10 दिन पहले भी  राहुल गांधी ने दिल्ली की तमाम महिला पत्रकारों से मुलाकात की थी और तमाम मुद्दों पर कांग्रेस पार्टी का पक्ष रखा था. दरअसल, यह सारी कवायद कांग्रेस पार्टी के मीडिया डिपार्टमेंट के हेड रणदीप सुरजेवाला के पहल पर हो रही है. आने वाले दिनों में राहुल गांधी विभिन्न चैनलों में काम कर रहे संपादकों और चैनल हेड से भी मुलाकात करेंगे..

बताया जा रहा है कि इस मीटिंग में राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट के हेड रणदीप सिंह सुरजेवाला और और कुछ गिने चुने प्रवक्ता भी मौजूद रहेंगे. गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पिछले कुछ समय से मीडिया कर्मियों से मिलकर उसे अनौपचारिक रिश्ते बनाने की कोशिश कर रहे हैं. .

कमल नाथ बोले ,मुझे मुख्यमंत्री नहीं बनना मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनानी हैं

सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी के कुछ करीबी मानते हैं कि मीडिया में राहुल गांधी को लेकर एक नकारात्मक छवि है और जिसकी वजह से राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी को मीडिया में इतना स्पेस नहीं मिल पाता जितनी उसको दरकार रहती है. पिछले दिनों राहुल गांधी ने अविश्वास प्रस्ताव के दौरान जब संसद में भाषण दिया था उसके बाद उन्होंने अपने एक सहयोगी को देख wink किया था तो वह खबर भी मीडिया में काफी नकारात्मक रूप में चलाई गई और राहुल गांधी का भाषण उस खबर की वजह से दब गया .ये सब किया धरा भले ही उन मीडिया समूहों का हो जिनकी कमान कही न कहीं भाजपा के नेताओ से जुडी हैं .

पार्टी के प्रवक्ताओ और नेताओं को भी राहुल गाँधी ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं .मीडिया के साथ अनौपचारिक चर्चा की जाए ताकि बिना कैमरों के भी पत्रकारों को विभिन्न मुद्दों पर अपनी स्पष्ट राय समझा सकें. इसके अलावा वह मीडिया से रिश्ते भी सुधारना चाहते हैं साथ ही मोदी माय मीडिया से मुकाबले के लिए  यह सारी कवायद हो रही है.

खाटू श्याम दर्शन के बाद राजिस्थान में करेंगे राहुल गाँधी चुनाव प्रचार की शुरुआत

 

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.