Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने जम कर धोया भजपा अध्यक्ष अमित शाह को

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा कि अमित शाह की मानसिकता रचनात्मक नहीं है। वो दुर्भावना फैलाने में और समाज में बंटवारा लाने में विश्वास रखते हैं

0 559

आनंद शर्मा ने कहा कि एनआरसी की प्रकिया में दोष है. बड़ी संख्या में अपने नागरिक इससे बाहर किए गए हैं . इससे जो लोग प्रभावित हैं वो बंगाल, बिहार और दूसरे राज्यों के लोग हैं. उच्चतम न्यायालय की आड़ में भाजपा और सरकार को राजनीति नहीं करनी चाहिए. यह संवेदनशील विषय है.

उन्होंने कहा कि देश के कई हिस्सों के लोग अलग अलग प्रांतों में रहते हैं. इसलिए इसकी सही जांच होनी चाहिए ताकि कोई भारतीय नागरिक अपने अधिकार से वंचित नहीं रह जाए. शर्मा ने कहा कि विपक्ष को यह चिंता है कि अगर इतनी बड़ी संख्या में लोग बिखरते हैं तो क्या होगा. इसकी जिम्मेदारी सरकार और राज्य की बनती है. अपने ही देश में अपने नागरिक शरणार्थी नहीं बन सकते.

एनआरसी पर घमासान के बीच ममता बनर्जी ,मिली राहुल गाँधी और सोनिया गांधी से

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा कि अमित शाह की मानसिकता रचनात्मक नहीं है. वो दुर्भावना फैलाने में और समाज में बंटवारा लाने में विश्वास रखते हैं. वह सत्ताधारी दल के अध्यक्ष हैं वह जो कह रहे हैं उनके गृहमंत्री ने वो बात नहीं की.
आनंद शर्मा ने पी एम् मोदी और गृह मंत्री को चुनौती देते हुए कहा ,’ इसमें जरा भी सच्चाई है तो प्रधानमंत्री और गृहमंत्री आकर इस बात को सदन के अंदर दोहराएं. ये देश के लिए दुर्भाग्य की बात है कि सत्ताधारी दल का नेतृत्व अपनी जिम्मेवारी को नहीं समझता है और वे छोटे राजनीतिक लाभ के लिए देश का अहित करते हैं. अमित शाह ने आज राज्यसभा में कहा कि असम में एनआरसी 1985 में कांग्रेस द्वारा घोषित योजना का परिणाम है.

मध्य प्रदेश में राहुल गांधी करेंगे ओम्कारेश्वर से चुनाव प्रचार की शुरुआत

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि भाजपा के लोग गृह मंत्री के बयान से उलट बात कर रहे हैं. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा था कि यह काम सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो रहा है और सभी को अपनी नागरिकता साबित करने का मौका मिलेगा. उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) का बहु-प्रतीक्षित दूसरा एवं आखिरी मसौदा 2.89 करोड़ नामों के साथ कल जारी कर दिया गया था . एनआरसी में शामिल होने के लिए असम में 3.29 करोड़ लोगों ने आवेदन दिया था। इस दस्तावेज में 40.07 लाख आवेदकों को जगह नहीं मिली है.

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा विभाजन की लकीर खींच रही है. वह आने वाले चुनाव के मद्देनजर समाज में दुर्भावना पैदा करने की कोशिश कर रही है.

कीर्ति आज़ाद ने राहुल गाँधी की तारीफ़ कर दिए कांग्रेस में शामिल होने के संकेत

 

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.