Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

अविश्वास प्रस्ताव के सवाल पर बोली सोनिया गाँधी कौन कहता हैं हमारे पास नम्बर नहीं

अविश्वास प्रस्ताव पर मोदी मीडिया कुछ इस तरह का प्रचार करने में जूता हैं की भाजपा के पास अपना खुद का पूर्ण बहुमत जबकि भाजपा अपनी लोकसभा में मिली 272 सीटो में से कई लोकसभा सीट हार चुकी हैं .

1 475

अविश्वास प्रस्ताव पर मोदी मीडिया कुछ इस तरह का प्रचार करने में जूता हैं की भाजपा के पास अपना खुद का पूर्ण बहुमत जबकि भाजपा अपनी लोकसभा में मिली 272 सीटो में से कई लोकसभा सीट हार चुकी हैं . समर्थन के लिए वो अपने सहयोगी दलों के आसरे पर टिकी हैं . अपने खुद के बल पर भाजपा का विशवास मत जीत पाना मुश्किल होगा .

राहुल गाँधी पर विवादित ब्यान देने वाले नेता को मायावती ने किया बाहर

शुक्रवार को अविश्वास मत पर चर्चा और वोटिंग अभी बाकी हैं . तब तक शायद दिल्ली का सियासी मानसून कब करवट बदल दे ,इसका अंदाज़ लगाना भी मुश्किल हैं . हाँ दो लोग सत्ता के शीर्ष पर भयभीत हो गए हैं . वो अपने हरकारे हर उस दरवाज़े पर भेज रहे हैं जहाँ से उनको खुद भीतर घात होने का भय हैं .

यशवंत सिन्हा ,शत्रुघ्न सिन्हा ,लाल्क्रष्ण आडवाणी ,वरुण गाँधी ,और मुरली मनोहर जोशी समेत वो सभी नेता जिनको भाजपा सियासी बनवास  देने पर उतारू हैं ,ऐसे लगभग 50 वर्तमान सांसद वर्तमान नेत्रत्व से खार खाए बैठे हैं .

अविश्वास प्रस्ताव पर दिल्ली के सियासी गलियारों की आंतरिक रिपोर्ट ने भाजपा शीर्ष को हिला दिया हैं . सहयोगी दलों की बात छोडो मार्गदर्शक मंडल के वर्तमान सांसद भजपा या दुसरे शब्दों में कहें ,अविश्वास मत के समर्थन में आ गए हैं .

एक बड़ी लम्बी लिस्ट हैं भाजपा के उन वरिष्ठ नेताओं की जिनको तिल-तिल अपमानित किया गया . उनके अनुभव को देश के विकास के लिए नज़रंदाज़ किया जाता रहा हैं .

भीड़ तंत्र और नफरत के सामने गांधी विचारधारा के साथ जीत पाएंगे राहुल गाँधी

कांग्रेस समेत भाजपा की वो सहयोगी पार्टिया जिन्होंने अगला लोकसभा चुनाव भाजपा से अलग हो कर लड़ने की घोषणा की हैं . अविश्वास मत पर भाजपा के विरोध में खडी नज़र आयेंगी .

मोदी मीडिया कितना भी प्रचारित करता रहे की विशवास मत भाजपा हासिल करने में कामयाब हो जायेगी . सोनिया गाँधी ने आंकड़ो के खेल में हमेशा भाजपा को मात दी हैं .

अमित शाह के बिहार दौरे पर भाजपाइयो ने भाजपा नेता के विरोध में लगाए पोस्टर

अविश्वास प्रस्ताव के बाद कांग्रेस भी आश्वस्त होना चाहेगी की कितने दलों के साथ उनको महागठबंधन  का आधार रखना हैं

You might also like
1 Comment
  1. DomingTag says

    each time i used to read smaller articles that also clear their motive, and that is
    also happening with this article which I am reading at this
    place. https://www.domed-sticker.xyz

Leave A Reply

Your email address will not be published.