Azadmanoj
Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

एक कविता राहुल गाँधी पर “काल जैसी सरकार के भाल पर कालिख मलने चला हूँ “

काल जैसी सरकार के भाल पर कालिख मलने चला हूँ | सर पर कफ़न ,दिल में वतन की मुहब्बत लिए चला हूँ ||

0 446

काल जैसी सरकार के भाल पर कालिख मलने चला हूँ |

सर पर कफ़न ,दिल में वतन की मुहब्बत लिए चला हूँ ||

आज फिर कुछ अवसरवादियों के झूठ खोलने चला हूँ |

काल के विकराल सच को उजागर करने चला हूँ ||

काल जैसी सरकार के भाल पर कालिख मलने चला हूँ |

मरे किसानो,और मजलूम चीखो का हथियार ले कर चला हूँ ||

शहीदों के कफ़न का और शाहदत का हिसाब मांगने चला हूँ ||

वतन की खातिर मर मिटने वाले शहीदों की राख ले कर चला हूँ ||

वतन की खातिर फिर से सच की शमशीर उठा के चला हूँ ||

काल जैसी सरकार के भाल पर कालिख मलने चला हूँ ||

देश के खजाने पर डाके का सवाल फिर से पूछने चला हूँ ||

लुटती बेटियों की अस्मत के सवालों का भाला ले कर चला हूँ |

आज फिर वतन की खातिर तानाशाह से सवाल करने चला हूँ ||

मज़हबो पर दंगो में मरे हिदुस्तानी का सवाल ले कर चला हूँ  |

काल जैसी सरकार के भाल पर कालिख मलने चला हूँ ||

माना सत्ता की शक्ती का रूप  बड़ा भयानक होता हैं |

पर सवाल पूछने किसी को तो सत्ता के पास जाना होता हैं ||

सवालों के बदले मिले सूली ये तो दस्तूर सियासतों का हैं |

कौन सही कौन गलत ये फैसला तो तारीखों में होता हैं ||

उन्हें कुर्बानियों से क्या वास्ता जो सत्ता की भीख मांगते हैं  |

हम कुर्बानियों के आगे सत्ता को ठोकर मारा करते हैं ||

वो नफरत झूठ  ,सत्ता में रहते फैलाते ,खाते और गाते हैं |

हम प्रेम सत्य ,अहिंसा की खातिर बलिदान हो जाते हैं ||

क्रप्या ये भी देखे

Also Read

पी एम् मोदी की पोल खोलती रिपोर्ट को राहूल गाँधी ने ट्विटर में डाल मचाया तहलका

 

भाजपा का कीचड वाला कमल भीड़ तंत्र के साथ ,यही हैं भाजपा का सच्चा विकास

 

राहुल गाँधी की बंगाल के नेताओं से मीटिंग बेनतीजा रही , गठबंधन पर एक मत नहीं

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.