Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

भाजपा में फ़ैली हैं बैचेनी ,कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के खौफ से उडी हैं नींद

एक समाचार एजेंसी का एक सर्वे आया था जिसमे भाजपा को लोकसभा चुनावों में 150 सीटो का घटा हो सकता हैं . इस रिपोर्ट के बहार आने के बाद भाजपा के शीर्ष नेत्रत्व में घमासान मच गया  हैं 

0 1,085

हाल ही में एक समाचार एजेंसी का एक सर्वे आया था जिसमे भाजपा को लोकसभा चुनावों में 150 सीटो का घटा हो सकता हैं . इस रिपोर्ट के बहार आने के बाद भाजपा के शीर्ष नेत्रत्व में घमासान मच गया  हैं  . मार्ग दर्शक मंडल के कई वरिष्ठ नेताओं का टिकट काटना तय माना जा रहा हैं . सही खबरे बहस का विषय बन कर बाहर  न आये इस लिए भाजपा के नेता कांग्रेस के किसी भी ब्यान को ले कर मीडिया में अनर्गल बाते कहते घूमने लगे हैं . राहुल गाँधी पर तीखे हमले भाजपा की उसी सियासी साजिशो का हिस्सा हैं .

अमित शाह के बिहार दौरे पर भाजपाइयो ने भाजपा नेता के विरोध में लगाए पोस्टर

शाम होते होते टी वी मीडिया पर हर चेनल पर एक शाब्दिक दंगल शुरू हो जाता हैं . कांग्रेस के किसी भी नेता द्वारा दिए गए ब्यान को मीडिया राहुल गाँधी के त्याग पत्र की मांग करने लगता हैं . ये वही राहुल गाँधी हैं जिसको ले कर भाजपा कभी उनकी योग्यता पर पहेलियो और आशंकाओं की शब्द वर्षा करती थी. शशि थरूर एक कांग्रेस के नेता ही नहीं ,उनकी व्यक्तिगत उपलब्धिया उनके बारे में सब कुछ ब्यान कर देती हैं .

उन्होंने कुछ भी गलत इस लिए नहीं कहा की वर्तमान लोकतंत्र में चौथा स्तम्भ सरकार की भाषा में अब जनता से सवाल करता हैं . वो खुद तय करता हैं की कौन देश में रहने लायक हैं कौन नहीं . अगर सच्चाई का आइना देख कर भाजपा को भय लगने लगा हैं .स्मरण रहे ये वही गलती हैं जो जिन्न्हा ने पकिस्तान अलग कर की थी .भारत देश और पकिस्तान एक साथ ही आज़ाद हुए थे .

एक कविता राहुल गाँधी पर “काल जैसी सरकार के भाल पर कालिख मलने चला हूँ

तब से ले कर अब तक भाजपा के नेताओं को ,अपने संस्थानों .स्वास्थ्य संस्थाओं और परिवहन निर्भरता समेत अन्न निर्भरता पर पकिस्तान के साथ भारत की तुलना करनी चाहिए . दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा . पी एम् मोदी समेत भाजपा के काफी नेताओं को अपने उस सवाल का ज़बाब भी मिल जाएगा जिसमे ,वो कहते हैं की पिछले ७० सालो में देश के अन्दर कांग्रेस ने क्या किया ?

अति चरमवाद लोकतंत्र को नष्ट कर देता हैं . ये विश्व में कई देशो जहाँ ये हावी रहा ,वहां का इतिहास देख कर अध्यन करके अंदाज़ा लगाया जा सकता हैं .

धर्म को राजनीति से अलग रखना आवश्यक हैं . अगर धर्म के अनुसार ही राजनीति होनी हैं तब संविधान को हटा कर मनु स्मरति के नियमो को ,मोदी सरकार द्वारा अभी तक लागू कर दिया जाना चाहिए था . इतना सहस भाजपा ने एक तरफा बहुमत होते हुए भी क्यों नहीं किया . ये समझ के बाहर हैं . हिन्दू राष्ट्र घोषित करने का अवसर पी एम् मोदी और भाजपा ने अपने हाथ से निकल जाने दिया . यदि हिदू राष्ट्र की बात सियासी बहसों में सवाल बन सकती हैं तब इस पर ज़बाब भी भाजपा द्वारा ले कर आना चाहिए .

पी एम् मोदी की पोल खोलती रिपोर्ट को राहूल गाँधी ने ट्विटर में डाल मचाया तहलका

यही हाल श्री राम मंदिर का हैं ,जिस पर कथित हिन्दू संगठनो ने अपने मुंह पर सफ़ेद पट्टी बाँध ली हैं.

आज भिसर्कार में न होते हुए सवाल कांग्रेस और राहुल गाँधी से किये जाते हैं . सरकार भी कभी राहुल गाँधी के एक सवाल का ज़बाब दे दे अगर जरा सा भी हिदू पौरुष पी एम् मोदी में कही बाकी हैं तब …

आज फिर शाम हो रही हैं ठीक इसी वक्त में अपना ब्लॉग लिख रहा हूँ . आज भी टी वी मीडिया की बहसों में जोर जोर से चिल्लाते और उग्र प्रदर्शन करने वाले भाजपा प्रवक्ता ,फिर से दिखाई देंगे संयम की वाणी की जगह कर्कश सी आवाजे टी वी चेनलो पर हर घर के वातावरण में नफरत बांटते नज़र आयेंगे ,

राहुल गाँधी की बंगाल के नेताओं से मीटिंग बेनतीजा रही , गठबंधन पर एक मत नहीं
You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.