Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

जब ज्योतिरादित्य सिंधिया के युवराज निकले सडको पर ,साधा सीधे मोदी पे निशाना

माधवराव की मौत के बाद उनके बेटे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना विधानसभा सीट से चुनाव जीत कर राजनीति में प्रवेश किया. ज्योतिरादित्य सिंधिया की बुआ वसुंधरा राजे सिंधिया राजस्थान की मुख्यमंत्री हैं.

0 1,020

करेंगे।ग्वालियर राजघराने के परिवार से विजयराजे सिंधिया ने सबसे पहले 1957 से कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ा था. उसके बाद उनके बेटे माधवराव सिंधिया जनसंघ में रहे और 1979 में राजीव गांधी के आग्रह के बाद  उन्होंने कांग्रेस में प्रवेश किया था .

माधवराव की मौत के बाद उनके बेटे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना विधानसभा सीट से चुनाव जीत कर राजनीति में प्रवेश किया. ज्योतिरादित्य सिंधिया की बुआ वसुंधरा राजे सिंधिया राजस्थान की मुख्यमंत्री हैं.

प्रणव दा के नागपुर दौरे की इन साइड कहानी ,राहुल के इशारे पर संघ आया साथ

उसी परम्परा को निभाने अगली पीढी ने लोगो के बीच अपनी पहुच बनाना शुरू कर दिया हैं . आर्यमान सभी वर्गों के लोगो से सामान्य रूप से बड़ी सादगी से मिल रहे हैं .

अपनी तरह के युवाओं के साथ उन्होंने खूब मस्ती की .आदिवासी युवाओ के साथ जम कर डांस किया तब दूसरी और युवाओं के साथ पान की दूकान पर भी दिखाई दिए .

शर्मिष्ठा मुखर्जी की आशंका सच हुई ,प्रणव दा की तस्वीर से छेड़छाड़ कर की वायरल

मध्यप्रदेश में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बेटे महाआर्यमन को शिवपुरी में शनिवार को युवा संवाद कार्यक्रम मे देखा गया. विदेश में पढ़ाई कर रहे और महज 15 साल के महाआर्यमन ने कार्यक्रम में बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि लोग झूठ बोलने की राजनीति कर रहे हैं और हम इस बार प्रदेश में राजनीति का चेहरा बदलने आए हैं.

कार्यक्रम के दौरान महाआर्यमन ने लोगों को एक गाना भी सुनाया।पिता ज्योतिरादित्य सिंधिया की मदद के लिए सियासी मैदान में उतरे महाआर्यमन ने युवाओं को ईमानदारी व निष्ठा से कार्य करने का संदेश दिया. आने वाले समय  में अगर ज्यातिरादित्य के बेटे आधिकारिक रूप से चुनावी मैदान में उतरते हैं तो वे अपने परिवार के चौथी पीढ़ी के सदस्य होंगे जो राजनीति में प्रवेश करेंगे .

आंतरिक सर्वे के परिणामो से बड़ाई भाजपा की मुश्किलें ,2019 जीतना मुश्किल
You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.