Azadmanoj
Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

शिवराज चौहान के बागी अब कमल नाथ संग मिले ,भाजपा में बैचैनी

शिव राज चौहान के बागी अब कमलनाथ के साथ कांग्रेस के सिपहसलार बन कर ,शिव राज के पेंदे में छेद करने को तैयार हैं .

0 434

 

शिव राज चौहान के बागी अब कमलनाथ के साथ कांग्रेस के सिपहसलार बन कर ,शिव राज के पेंदे में छेद करने को तैयार हैं .

मंदसौर में हुए किसान आंदोलन के दौरान मारे गए आधा दर्जन किसानों की पहली बरसी से पहले डीपी धाकड़ को कमलनाथ ने अपनी टीम में जगह देने का तय कर लिया है. धाकड़ को पंचायतीराज समंवय समिति का प्रदेश संयोजक बनाया जा रहा है. धाकड़ मंदसौर किसान आंदोलन में आरोपी बनाए गए थे.

एक्जिट पोलो ने साबित कर दिया ,राहुल गाँधी के आगे ढेर हुए मोदीजी

त्रिस्तरीय पंचायतराज संगठन के माध्यम से पंचायत आंदोलन कर सरकार की नाक में दम करने वाले भाजपा नेता अभय मिश्रा एवं डीपी धाकड़ अब कमलनाथ की टीम में शामिल किए जा सकते हैं.

यहाँ गौरतलब हैं मंदसौर के किसान आन्दोलन में धाकड़ चर्चित रहे थे . भाजपा नेता होने के बाबजूद उन के पंख कुतर दिए थे .पुलिस मुकदमे झेल रहे धाकड़ अब कमल नाथ के साथ मिल कर कांग्रेस के लिए काम करेंगे .

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी बहिन प्रियंका के साथ होंगे शामिल लालू की खुशियों में

कमलनाथ ने दोनों नेताओं को आश्वस्त किया है. बताया जा रहा है मिश्रा को कांग्रेस पंचायतीराज समंवय समिति का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाएगा जबकि धाकड़ पंचायतीराज समंवय समिति के प्रदेश संयोजक होंगे. याद दिला दें कि डीपी धाकड़ मंदसौर किसान आंदोलन में भी आरोपी हैं. उन पर किसानों को भड़काने का आरोप है. भाजपा से कांग्रेस में आए पूर्व विधायक अभय मिश्रा को इस समिति का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाएगा। इन दोनों नेताओं की नियुक्ति जल्द ही कर दी जाएगी. ये दोनों मिलकर पंचायतीराज समंवय समिति में बाकी के पदाधिकारियों को नियुक्त करेंगे.

इसी बीच भाजपा ने कमल नाथ की ज्यादा आयु को ले कर सवाल उठाये थे . सिंधिया ने उनको करार ज़बाब देते हुए कहा की भाजपा के नेताओं को जल्द अंदाजा हो जाएगा मध्य प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ में कितनी क्षमता हैं . अभी थोडा समय गुजरने दीजिये . भाजपा को उसका आइना जल्द दिखा दिया जाएगा .

कर्नाटक के चुनाव प्रचार में कांग्रेस के आगे बेबस दिखी भाजपा की रणनीति

796 Shares

Leave A Reply

Your email address will not be published.