Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

हमें राष्ट्रवाद की आवश्यकता नहीं,… बोली पंडित नेहरु की भांजी नयनतारा सहगल

नयनतारा का नया उपन्यास ‘वेन द मून शाइन्स बाइ डे’ फासीवादी हिंदुत्व की ओर देश की यात्रा का वर्णन करता है. इसमें नयन तारा ने लिखा है कि केवल बौद्धिक समुदाय ही नहीं, बल्कि समाज के प्रत्येक वर्ग के लोग इसके इससे प्रभावित हैं.

0 393

नयनतारा का नया उपन्यास ‘वेन द मून शाइन्स बाइ डे’ फासीवादी हिंदुत्व की ओर देश की यात्रा का वर्णन करता है. इसमें नयन तारा ने लिखा है कि केवल बौद्धिक समुदाय ही नहीं, बल्कि समाज के प्रत्येक वर्ग के लोग इसके इससे प्रभावित हैं.

नयनतारा सहगल के अनुसार  “यह केवल बौद्धिक समुदाय के बारे में नहीं है. आम व्यक्ति भी निशाने पर है. मवेशी ले जा रहे शख्स की हत्या कर दी जाती हैं . एक गरीब व्यक्ति, जो एक लोहार था, उसकी भीड़ द्वारा पीट-पीट कर सरे आम  हत्या कर दी गई. ईद की खरीददारी से लौटते समय एक छोटे से बच्चे की चाकू मारकर हत्या कर दी गई . ये बुद्धिजीवी नहीं थे, ये साधारण व्यक्ति थे, जो अपनी रोजी-रोटी के लिए छोटा-मोटा काम करते थे .

राहुल गाँधी ने खाए नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ मिर्ची और प्याज के पकोड़े

मशहूर लेखिका और नेहरू-गांधी परिवार की सदस्य  नयनतारा सहगल कोलकाता साहित्य महोत्सव में भाग लेने आयी  हुई थीं. इस दौरान उन्होंने बातचीत में कहा, “हमें राष्ट्रवाद की आवश्यकता नहीं है. राष्ट्रवाद पर उनका (संघ ) विचार कचरे का बोझ है। हमें राष्ट्रवाद की आवश्यकता उस समय थी, जब हम एक राष्ट्र बनने के लिए लड़ रहे थे. ब्रिटिश शासन से खुद को आजाद करने के लिए लड़ रहे थे . हम पिछले 70 वर्षों से एक राष्ट्र हैं। इसलिए हमें अब राष्ट्रवाद की जरूरत नहीं है, यह सब अर्थहीन है .

इस अवसर पर उन्होंने कहा

 “हम एक अन्धकार का सामना करने वाली स्थिति में हैं. यहां कोई लोकतंत्र नहीं है. हम पहले से ही इसके लक्षण देख रहे हैं, क्योंकि बहस, अभिव्यक्ति और असहमति की स्थिति को कुचल दिया गया है . इतिहास को नष्ट किया जा रहा है और फिर से नया इतिहास लिखे जाने का प्रयास किया जा रहा है . फिल्मकारों पर हमले किए जा रहे हैं . लेखक भी निशाने पर रहे हैं. कई लोगों की हत्या कर दी गई है. आप किस पर विश्वास कर सकते हैं ?

80 वर्षीय लेखिका नयनतारा डरती हैं कि इस स्थिति में हिंदू सेना  भारत को एक ‘हिंदू राष्ट्र’ घोषित कर सकता है, जहां अन्य सभी समुदायों को बाहरी और मुसलमानों को कट्टर दुश्मन समझा जाएगा .

देश का पी एम् विदेश घूम रहा हैं ,देश की सीमा पर सैनिकऔर उनके घर वाले मर रहे हैं

उन्होंने कहा, “देश की स्थिति पहले से ही परिवर्तित हो रही है. हम सभी ने गुजरात चुनाव के चुनाव परिणाम देखे हैं. पी एम् मोदी के गृह राज्य में कांग्रेस ने उल्लेखनीय वापसी की है, जो बहुत उत्साहजनक है. देशभर में विभिन्न मुद्दों पर विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं.

नयनतारा ने कहा, भाजपा  चुनाव जीतने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है.  उनके पास बहुत पैसा है, क्योंकि उनके पीछे बड़े कॉरपोरेट्स का हाथ है और विपक्षी पार्टियां इस मोर्चे पर उनके साथ प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकती हैं .

नयन तारा ने कहा दलितों का विरोध बढ़ा है. दलित  अब गाय के शवों को उठाने से इंकार कर रहे हैं . पूरे देश के विभिन्न समूह विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं . उन्होंने आगे कहा, “वास्तविक परिवर्तन वोट से आता है.  विपक्षी राजनैतिक दल  विशेष रूप से  कई भारतीय जो किसी पार्टी से संबंधित नहीं है, वे ईवीएम को लेकर आशंकित हैं और उन्हें लगता है कि उससे छेड़छाड़ की गई है .

subscribe this channel 

Azadmanoj

राहुल गाँधी और कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया का दांव कर देगा भाजपा को चित

वीडियो कोना 

 

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.