Azadmanoj
Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

राहुल गाँधी के बदलते अंदाज़ और बापू गाँधी की तरह फिरंगियों जैसी भाजपा पर वार

गुजरात से लेकर राजस्थान तक बीते दो महीने में आए चुनावी नतीजों ने कांग्रेस के तेवरों को ताकत का नया पॉवर केप्सूल  दिया है. कांग्रेस अध्यक्ष बनते ही राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस आक्रामक रंगत में नज़र आ रही हैं . 

0 151

गुजरात से लेकर राजस्थान तक बीते दो महीने में आए चुनावी नतीजों ने कांग्रेस के तेवरों को ताकत का नया पॉवर केप्सूल  दिया है. कांग्रेस अध्यक्ष बनते ही राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस आक्रामक रंगत में नज़र आ रही हैं .

कांग्रेस ने बीते दो महीनों में सरकार के विरोध में  अपनी सियासी रणनीति में एक अहम बदलाव किया है और वो है एक मुश्त हमला कठोर सवालों का .

अब शुरू हो गयी हैं चलनी कांग्रेस की हवा बोली सोनिया गाँधी शुरू करो तैयारी

सरकार को अपने सवालों पर आत्मसमर्पण और घुटनों पर  लाने की इस रणनीति का चेहरा तो नए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ही हैं लेकिन इसका पर्दे के पीछे आंकड़ों के सियासी धनुर्धरों की बाकायदा एक टीम बनाई गई है.

इस टीम के कप्तान हैं  ,डेटा एनालिटिक्स के नामी धुरंधर प्रवीण चक्रवर्ती. प्रवीण चक्रवर्ती को कांग्रेस पार्टी की डेटा एनलीटिक्स टीम का मुखिया बनाने की घोषणा  खुद राहुल गांधी ने की थी .

राहुल गाँधी ने पी एम् मोदी की इज्ज़त का कचरा निकाल ही दिया ,मोदी अब बेबस

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ”मैं प्रवीण चक्रवर्ती की अगुवाई में डेटा एनालिटिक्स विभाग की घोषणा करते हुए बहुत उत्साहित हूं.”

प्रवीण चक्रवर्ती बिरला इस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी और फिर अमेरिका के नामी व्हार्टन स्कूल से शिक्षित है. आईबीएम और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियों में काम करने के साथ ही अर्थशास्त्र और इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के क्षेत्र में अपना जोहर  दिखा चुके है.

ये प्रवीण चक्रवर्ती 2010 में पीएनबी परिबास में ऊंचे ओहदे की नौकरी छोड़कर प्रवीण, नंदन नीलेकणी की अध्यक्षता में आधार परियोजना के लिए बने UIDAI की पहली टीम में भी शामिल हुए थे.

राहुल गांधी ने बीते दो महीनों में पार्टी के कामकाज और प्रबंधन में कई अहम बदलाव किए हैं. इन बदलावों की ही कड़ी में पार्टी के परम्परागत  कंप्यूटर विभाग को बदलकर डेटा एनालिटिक्स विभाग कर दिया गया है.

राहुल गांधी मेरे भी बौस हैं: सोनिया गाँधी ,पहला एक्शन ३७ कांग्रेस नेता पार्टी से निकाले

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अध्यक्षता वाली कांग्रेस पार्टी में इस नई डेटा विश्लेषण  टीम की अहमियत का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि प्रवीण चक्रवर्ती सीधे कांग्रेस प्रमुख को ही रिपोर्ट करते हैं.

इस जनूनी टीम का काम देश में कांग्रेस पार्टी व उसके नेताओं की लोकप्रियता के सर्वे, प्रचार अभियान और उसके परिणाम  का विश्लेषण और चुनाव प्रबंधन के लिए ज़रूरी डेटा विश्लेषण  करने का है.

इस टीम के काम का असर राहुल गांधी के सोशल मीडिया पर ताजा ट्वीट और बयानों में नज़र आता है. संसद में धन्यवाद प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद राहुल ने जो हमला बोला उसमें बेरोजगारी के आंकड़ों के साथ सरकार को घेरने का प्रयास किया.

राहुल गाँधी ने पी एम् मोदी का संसद में गुरिल्ला स्टाइल में कराया विरोध

हर रोज 30 हजार युवा नौकरी के बाजार में आते है जिसमे से हम 450 को ही नौकरी दे पा रहे है. इस तरह हम 10 लाख बेकार युवको की सेना  तैयार कर रहे है. इसके अतिरिक्त  राहुल गांधी ने किसानों की आत्महत्या और सीमा पर भारत के लिए बढ़ती खतरों का मामला भी  उठाया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने अपने सलाहकार मंडल में एक से बढ़ कर एक हीरा शामिल किया हुआ हैं .

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.