Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

राहुल गाँधी ने खाए नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ मिर्ची और प्याज के पकोड़े

राहुल गाँधी सियासत के इतने माहिर खिलाड़ी बन जायेंगे ये अंदाजा भाजपा को कभी नहीं रहा होगा . यदि था भी तो उसने कभी जगजाहिर नहीं किया . इ

0 150

राहुल गाँधी सियासत के इतने माहिर खिलाड़ी बन जायेंगे ये अंदाजा भाजपा को कभी नहीं रहा होगा . यदि था भी तो उसने कभी जगजाहिर नहीं किया . इतना ज़रूर हैं मोदी जी के सियासती दांव पेचो और जुमलेबाजी का ज़बाब वो अपने ही अंदाज़ में अलग से देने लगे हैं . सांकेतिक व्यंग्य और सियासी इशारे उनको करना आ गया हैं .

ऐसा ही कुछ देखने को मिला जब उन्होंने कार्यकर्ता और नेताओं के साथ मिल बैठ कर पकोडीयो का लुत्फ लिया . हुआ कुछ यूँ की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को राहुल गांधी रायचूर के कलमाला गांव पहुंचे थे .

जहां, राहुल गांधी ने एक दुकान पर चाय के साथ मिर्च और प्याज के पकौड़ों का आनंद लिया . इस दौरान उनके साथ कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया और पार्टी पदाधिकारी मौजूद रहे. राहुल गांधी ने गाड़ी रुकवा कर सड़क के किनारे बने एक ढ़ाबे पर कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया और पार्टी कार्यकर्ताओं नेताओं और पदाधिकारियों ने  स्वाद लिया.

संघ प्रमुख मोहन भागवत के ब्यान पर भडके कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

एक नेता के किसी सवाल पर एक आँख दवा कर मुस्कुराते सहज नज़र आये राहुल गाँधी पी एम् मोदी के पकोड़े वाले बयान का ज़बाब देते दिखाई दिए .

राहुल गाँधी और कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया का दांव कर देगा भाजपा को चित
अपने दौरे के तीसरे दिन आज वह रायचूर और गुलबर्गा के दौरे पर थे .। उन्होंने वहां रोड शो किया और पब्लिक मीटिंग की . कल वो  एक दरगाह पर  भी पहुंचे, जहां चादर चढ़ाकर जीत की दुआ मांगी.

इससे पहले रविवार को उन्‍होंने मंदिर दर्शन किया था. इसको लेकर भाजपा ने कटाक्ष भी किया था. कहा जा रहा है कि गुजरात की तरह कर्नाटक में भी कांग्रेस हिंदू और मुस्लिम दोनों को साधने में जुटी हुई है. इससे पहले वह रायबरेली में भी अचानक एक दुकान पर रुके थे और चाय समौसे का लुत्फ लिया था.

देश का पी एम् विदेश घूम रहा हैं ,देश की सीमा पर सैनिकऔर उनके घर वाले मर रहे हैं .

यहाँ गौर तलब हैं  बीते दिनों एक इंटरव्यू में पीएम मोदी ने रोजगार पर सवाल करते हुए पकौड़ा बेचने को लेकर बयान दिया था . पीएम ने कहा था कि अगर कोई शख्स दिन भर पकौड़े बेचकर शाम को 200 रुपये कमाकर घर लौटता है, तो उसे रोजगार माना जाना चाहिए या नहीं ?

इसके बाद विपक्ष ने उन्हें अड़े हाथों लिया था. जिसके बाद संसद सत्र में इस पर जमकर बवाल काटा गया था .

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.