Azadmanoj
Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

बोले तोगड़िया उच्च पदस्थ नेता कर रहा हैं मेरे खिलाफ साज़िश, मचा हड्कंम्प

विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया एक मुखर हिंदुत्व का बड़ा चेहरा रहे हैं . आज कल भाजपा के मार्ग दर्शक मंडल की तरह उनको भी नेपथ्य में भेज दिया गया हैं .

0 141
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया एक मुखर हिंदुत्व का बड़ा चेहरा रहे हैं . आज कल भाजपा के मार्ग दर्शक मंडल की तरह उनको भी नेपथ्य में भेज दिया गया हैं . कार्यकर्ताओं की पार्टी कही जाने वाली भाजपा में केवल दो मुख्य चेहेरो का ज़िक्र और शुमार मीडिया से ले कर सियासी गलियारों में होता हैं . वो दो नाम हैं नरेंद्र भाई मोदी और अमित शाह ………

प्रवीण तोगड़िया ने अब एक बड़ा बयान दे कर सियासी गलियारों में हलचल ला  दी हैं .शुक्रवार को प्रवीण तोगड़िया ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी में ‘उच्च स्तर पर विराजमान कोई’ उनके खिलाफ षड्यंत्र रच रहा हैं .

राहुल गाँधी का मिशन कर्नाटक शुरू ,सारे नेता अब होंगे कर्नाटक में

विश्व हिन्दू  परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि इस व्यक्ति की कोशिश है कि 1996 के हत्या के प्रयास के एक मामले में अदालत द्वारा जारी समन उन तक न पहुंचे और वह इसमें फंसकर जेल चले जाएं.अदालत ने शुक्रवार को तोगड़िया के खिलाफ जारी एक गैर जमानती वारंट को निरस्त कर दिया.

हत्या के प्रयास का यह मुकदमा  तोगड़िया समेत 39 लोगों पर चल रहा है. इसमें बीजेपी के कई नेता शामिल हैं. याचिकाकर्ता भी बीजेपी के पूर्व विधायक जगरूप सिंह राजपूत हैं. वह बीते महीने हुए चुनाव में कांग्रेस के हिम्मत सिंह पटेल के हाथों पराजित हो गए थे .

घटना तब हुई थी जब शंकर सिंह वाघेला ने भाजपा से विद्रोह कर दिया था. वाघेला समर्थकों पर भाजपा समर्थकों ने एक दुसरे पर हमला किया था. शंकर सिंह वाघेला के समर्थक आत्माराम पटेल को बुरी तरह पीटा गया था.

मीडिया और भयभीत मोदी सरकार का जिग्नेश मेवानी के विरुद्ध षड्यंत्र

उसी मुक़दमे की सुनवाई शुक्रवार को हो रही थी . जिसमे तोगड़िया हाज़िर हुए थे  . अदालत ने वारंट को निरस्त कर दिया और प्रवीण तोगड़िया को अदालत में जब कभी मामले की सुनवाई होगी, पेश होना होगा. गैर जमानती वारंट इसलिए तोगड़िया के  खिलाफ जारी हुआ क्योंकि उसके पहले जारी हुए  समन का जवाब नहीं दिया था .”

प्रवीण तोगड़िया ने  कहा, “पुलिस ने वो समन मुझे दिए ही नहीं. मुझे इस कुछ सूत्रों से   सूचना मिली है कि यह गुजरात राज्य के  गृह मंत्री और मुख्यमंत्री के दखल के बिना किसी उच्च पदस्थ  नेता द्वारा जान बूझकर किया गया हैं .

तोगड़िया ने कहा, “ऐसा ही पाटीदार आंदोलन के समय हुआ था . जब (तत्कालीन) मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल ने कहा था कि उन्होंने आंदोलनकारियों पर लाठी चार्ज का आदेश नहीं दिया था। यह वैसा ही मामला है.

प्रवीण तोगड़िया का साफ़ इशारा अमित शाह की तरफ संदेह  इंगित कर रहा था . अमित शाह किस तरह अपने पद और पी एम् के साथ निकटता का प्रयोग किस तरह से करते हैं ये पाटीदार आन्दोलन के समय से  सब को पता हैं .

तोगड़िया ने कहा, “भाजपा  को लोकसभा  चुनाव में स्पष्ट जनादेश के बावजूद, सरकार अपने चुनावी वादे क्यों नहीं पूरा कर रही हैं . मैं इसके खिलाफ अपनी आवाज उठाता रहा हूं. और इसीलिए जान बूझकर मेरी आवाज को दबाने की कोशिश हो रही हैं .

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का ये दांव खत्म कर देगा कांग्रेस में गुटवाजी को

मैं अहमदाबाद में मौजूद था और फिर भी मुझे समन नहीं दिया गया, क्यों? मुझे कई बार लगता है कि मेरी आवाज को दबाया जा रहा है। मैं बाद में खुलासा करूंगा कि इस सब के पीछे कौन है.

तोगड़िया के सुर भी अब उन सुरों में शामिल हो गए हैं . जिन नेताओं को दरकिनार वर्तमान भाजपा ने कर दिया हैं .

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Leave A Reply

Your email address will not be published.