facebook
Azadmanoj
Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

वो जुमले फेंकते रहे ,काले धन वाले धन सफ़ेद कर ले उड़े ,फंसी मोदी सरकार

0 762
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.
भ्रष्टाचार पर देश को गुमराह करते पी एम् 

प्रधानमंत्री जब भी भ्रष्टाचार मिटाने की बात करते हुए कांग्रेस पर अपने आरोपों की बाउंसर फेंकते रहते हैं .

यकीन जानिए सोशल मीडिया पर लोग कहने लगे हैं, की हमारे पी. एम् शोएब अख्तर या दुनिया के किसी भी तेज़ गेंदबाज़ से  ज्यादा अपने आरोप और जुमले फेंकते हैं .

अपने मुह से अपनी नाकामी को सफलता बताने वाले पी एम् मोदी कल एक बयान दे कर फंसते नज़र आ रहे हैं.

ताज़ा खबर :24 घंटे में हार्दिक पटेल खुद करेंगे बड़ा एलान ,भाजपा अब कोमा में !

कल पी एम् ने अपनी  हिमाचल रैली में कहा की 14 हज़ार ऐसी कम्पनी बंद कर दी गयी जिनके खाते में लेन देन हुआ.

वो ऐसी कंपनियां थी जिन्होंने नोट बंदी के दौरान 17 हज़ार करोड़ रूपये का काला धन  बैंकों में जमा किया और सफ़ेद करके निकाल  लिया .

यहाँ ग़ौरतलब हैं की नोट बंदी हुए एक साल हो गया .

सरकार की सी आई डी ,ई डी और दूसरी जाँच एजेंसियाँ क्या हाथ पर हाथ रखे बैठी रही .

काले धन वाले अपना काला धन सफ़ेद कर बैंक से निकालते गए .

बंद करो खोखला भाषण, काम दो ,वरना खाली करो सिंहासन : राहुल गाँधी

क्या सब भाजपा के विरोधियों के यहाँ रेड डालने के चक्कर में अपनी नाक के नीचे क्या हो रहा हैं, इसका भी ध्यान नहीं रख पाए .

इस बाबत अरुण जेटली जी ने प्रेस कांफ्रेंस कर जानकारी दी .

सरकार की नोट बंदी के बारे में राहुल गाँधी ने उसी समय कह दिया था ,

ये नोट बंदी फेयर एंड लवली योजना हैं .

तब अधिकतर सरकार में बैठे नेताओं ने और कुछ कथित पत्रकारों ने इस बात का मज़ाक बनाया था .

आज सरकार राहुल गाँधी के उसी दावे को पुख्ता करती नज़र आ रही हैं .

जानकारी प्रेस के द्वारा भी नहीं दी जाती तब भी देर सवेर चुनाव के समय इसके लीक हो जाने का ख़तरा था .

इसी लिए शायद  वित्त मंत्री और प्रधानमंत्री को अपनी नाकामयाबी को अपनी सफलता कह कर प्रचारित करना पड रहा हैं .

सरकार अपनी असफलताओं को सफलता बता कर प्रचारित कर रही हैं .

साफ नजर आ रहा हैं की मोदी सरकार सिर्फ चुनावी प्रचार करती रही हैं .

उसकी नाक के नीचे 17 हज़ार करोड़ का घोटाला हो गया हैं .

इसकी ज़िम्मेदारी साफ तौर पर वित्तमंत्री और प्रधान सेवक की हैं .

एक प्रश्न ये भी उठता हैं 14 हज़ार फर्जी कंपनियां  बंद की गयी हैं .

अभी तक कितने लोग गिरफ्तार हुए इस बारे में किसी ने नहीं बताया हैं .

कम से कम सरकार को अपनी स्थिति साफ़ करनी चाहिए .

जनता को भी पता चले भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सरकार क्यों नाकाम हैं ?

जो भी जिम्मेवार हैं उन पर मोदी सरकार ने क्या कार्यवाही की हैं ये भी स्पष्ट होना चाहिए .

संभावित चुनावी हार देख मोदी जी के बिगड़े बोल, बोले “में पटेल का चेला हूँ “

लेकिन भ्रष्टाचार पर सरकार खुद घिरी नज़र आ रही हैं .

हालिया घटनाक्रम भाजपा के भ्रष्टाचारी प्रेम की तरफ इशारा करता हैं .

मुकुल राय टी.एम् सी में जब तक ममता बनर्जी की पार्टी में थे ,तब तक उन पर सी बी आई की काफी रेड डाली जाती रही .

एक चिट फंड घोटाले के आरोपी को भाजपा में आने के बाद अब y श्रेणी की सुरक्षा दे दी गयी हैं.

सुखराम कांग्रेस में हो तब भ्रष्टाचारी भाजपा में आते ही वो ईमानदार ,येदुरप्पा और रेड्डी बंधू ऐसे कालिख भरे भाजपा के पन्ने हैं .

जो भाजपा के चाल  चरित्र और चेहरे पर हुए कोढ़ को उजागर करता है .

सरकार की जांच एजेंसियों ने नहीं खुद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सी डी को नकली बता दिया .

चिट फंड घोटाले के आरोपी  मुकुल राय को दोषों से मुक्त कर दिया .

मोदी जी की परेशानियां अब कम नहीं होंगी जनता की अदालत में प्रश्नों के उत्तर तो देने होंगे .

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Leave A Reply

Your email address will not be published.