facebook
Azadmanoj
Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

गुजरात चुनाव : राहुल गाँधी के सवालों से बौखला गए हैं पी एम् मोदी

राहुल गाँधी जहाँ ट्विटर से ले कर जमीन तक मोदी जी पर एक के बाद एक सवालों की झड़ी लगा रहे हैं . राहुल गाँधी की जन सभाओं के मुकाबले पी एम् मोदी की जन सभा में खाली कुर्सियां उनके भाषण सुन रही हैं .

0 259
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

22 सालों का हिसाब, गुजरात मांगे जवाब। गुजरात के हालात पर प्रधानमंत्रीजी से पहला सवाल: 2012 में वादा किया कि 50 लाख नए घर देंगे। 5 साल में बनाए 4.72 लाख घर। प्रधानमंत्रीजी बताइए कि क्या ये वादा पूरा होने में 45 साल और लगेंगे?

गुजरात के हालात पर प्रधानमंत्रीजी से दूसरा सवाल: 1995 में गुजरात पर क़र्ज़-9,183 करोड़। 2017 में गुजरात पर क़र्ज़-2,41,000 करोड़। यानी हर गुजराती पर ₹37,000 क़र्ज़ .

आपके वित्तीय कुप्रबंधन व पब्लिसिटी की सज़ा गुजरात की जनता क्यों चुकाए?

राहुल गाँधी जहाँ ट्विटर से ले कर ज़मीन तक मोदी जी पर एक के बाद एक सवालों की झड़ी लगा रहे हैं . राहुल गाँधी की जन सभाओं के मुकाबले पी एम् मोदी की जन सभा में खाली कुर्सियां उनके भाषण सुन रही हैं .

गुजरात चुनाव : राहुल गाँधी के सोमनाथ मंदिर विवाद पर फंसी भाजपा

राहुल गाँधी किसानो की फसल के दामो की बात कर रहे हैं . युवाओं के रोजगार की बात कर रहे हैं .इसके ठीक उलट मोदी जी राहुल गाँधी के मन्दिर में जाने को ले कर सवाल उठा रहे हैं .

वर्तमान सरकार में सरकार की जिम्मेवारी हैं की वो जनता के सवालों के जबाब दें .

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमरेली रैली के दौरान काफी संख्या में कुर्सियां खाली दिखीं
अमरेली जिला पाटीदारों के दबदबे वाले इलाके में आता है. यहां कपास और मूंगफली के किसान गंभीर संकट के हालत से गुजर रहे हैं.
अमरेली जिले की जनसभा किसी भी सूरत में अनूठी नहीं कही जा सकती. सोमवार को मोदी ने जो चार जन सभाएं कीं उनमें अमरेली की रैली सबसे ज्यादा फीकी रही. मोदी फिलहाल जिस इलाके में रैली कर रहे हैं, उसे ध्यान में रखें तो माना जा सकता है कि जनसभाओं में भीड़ तकरीबन इतनी ही रहेगी या फिर लोगों की तादाद में मामूली सा इजाफा हो सकता है.

गुजरात चुनाव : “कांग्रेस आवे छे ‘” नारा छा गया ,गुजरात को राहुल भा गया

लोगों को याद दिलाया जा रहा है कि मोदी के सियासी मंच पर आने के साथ गुजरात में दंगों और कर्फ्यू के दिन अलविदा हो गए. जब भी ऐसी याद दिलाई जाती है कि अब दंगे नहीं होते क्योंकि अब बीजेपी के लिए वो मददगार नहीं तो इसमें एक छुपा हुआ संदेश होता है कि दंगे पहले या तो मुस्लिम भड़काते हैं या फिर कांग्रेस.
मोदी ने दो तरफा फ़ॉर्मूला अपना रहे है, वो हमलावर भी दिखना चाहते हैं और हमले से पीड़ित  भी. उन्होंने अपने भाषण में कहा, ‘मैं चाय बेचना पसंद करूंगा, देश नहीं बेचूंगा’ और लोगों को याद दिलाने लगे .

कांग्रेस ने हमेशा गुजरात और गुजरातियों के साथ दगा किया है, दगा बाजी के पहले शिकार सरदार वल्लभ भाई पटेल बने. ऐसा कहकर उन्होंने गुजराती अस्मिता की चोट को उभारना चाहा लेकिन फिर इसी सांस में खुद को मुहाफिज बताते हुए ‘आ मोदी छे’ का गर्व घोष भी किया.

क्या राहुल गाँधी के अध्यक्ष बनते ही वरुण गांधी हो जायेंगे कांग्रेस में शामिल ?

लोगो ने इनके इस कथन का भी तोड़ निकाल लिया की पी एम् साब की तरह किसी न किसी ने कोई न कोई छोटा काम ज़रूर किया हैं

पी एम् मोदी ने मोरबी की अपनी जन सभा में उन्होंने कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी को घेरने के लिए उनकी दादी व पूर्व पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का जिक्र किया था .

मोदी ने 1979 के माछू बांध बाढ़ हादसे का हवाला देते हुए कहा, ”मुझे याद है कि इंदिरा गांधी यहां आई थीं और चित्रलेखा(स्थानीय पत्रिका) ने उनकी तस्वीर प्रकाशित की थी जिसमें उन्होंने रूमाल से अपनी नाक ढंक रखी थी, वह दुर्घंध से बचने की कोशिश कर रही थीं .

एक अन्य तस्वीर भी छपी थी जिसमें आरएसएस के कार्यकर्ता शव ले जा रहे थे.  मोदी जी का झूठ तुरंत पकड़ा गया आर एस एस के कार्यकर्ताओं ने भी मास्क पहने हुए थे . ऐसी भी तस्वीरे सोशल मीडिया में आने में देर नहीं लगी .

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Leave A Reply

Your email address will not be published.