facebook
Azadmanoj
Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

पी एम् ने माना ,अपने आप को कौरवो की सेना का सेनापति ,सहयोगी राजा शल्य

आर्थिक मंदी पर पी एम् साब का प्रवचन

0 717
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

झूठ बोलते वक्त यदी आपके हाव भाव में आत्मविश्वास हो तब लोगो को लगने लगता हैं की ये सच हैं .

कल्पना कीजिये इसी तरह का आत्म विशवास उन ढोंगियों के चहरे और और उनकी बातो में होता हैं जो सारे कष्ट दूर करने वाले ताबीज़ या उपाय बताते हैं .

भारत की जनता भोली हैं लोगो के छल बल में फंस जाती हैं . सीता खुद फंस गयी एक ढोंगी के डराने से ,जो स्वयं धरती माँ की पुत्री थी .

संस्कार निष्कपट लोगो पर हावी होते हैं .

संस्कारों की सीमाओं से बंधे लोग प्राय कभी भी वो रास्ता नहीं चुनते जो कपट से भरा हो . वो सीधा और सरल या लघु पथ चुनते हैं वो भी किसी के बताने पर प्राय धोखा हो जाता हैं . जब पता चलता हैं किसी ने रास्ता गलत बता दिया .

शहजादे का ग्राफ बढ रहा हैं ,झूठ मूठ का चाय वाला , एम् ए पास, पी एम् अब रो रहा हैं

कल पी एम् मोदी कुछ इसी तरह के दावे अर्थवयवस्था के बारे में बिलकुल उलट पेश कर रहे थे. तुलना पिछली सरकार से कर रहे थे जिस सरकार के  बारे में कभी उनका कहना था की ७० साल से कोई काम नहीं किया .

अपने तीन सालो की तुलना सरदार मनमोहन सिंह के अंतिम तीन सालो से कर रहे थे .

पी एम् साहब विपक्ष की भूमिका पर भी बोल देते या फिर GST क्यों तब पास नहीं हो पाया उस पर देश की जनता का ज्ञानवर्धन कर देते तब शायद कोई उनकी बात पर विशवास करता .

राहुल गाँधी के दावो पर मोहर ,अरुण शौरी ने भी माना नोट-बंदी सबसे बड़ा घोटाला

शब्दों का चुनाब और फ़िल्मी संवाद बोलने वाले पी एम् जिन्होंने बहुत विशवास से बोला अब समय आ गया हैं की इमानदारी को प्रीमियम मिलना चाहिए .

काहे आसाराम की तरह झांसा दे रहे हो पी एम् साब . क्या आप यकीन के काबिल हैं ?

आप तो भूल कर भी अब चौराहे पर नहीं आते लोग इंतज़ार में हैं . आपने खुद कहा था .

मित्रो जिस चौराहे पर चाहो फांसी दे देना .

नितांत झूठ और झूठ के अलावा झूठे दिलासों के, कल के भाषण में कुछ नहीं था . लोग कहने लगे हैं मोदीजी का भाषण ही शासन हैं .

आपने पिछली सरकार द्वारा शुरू की गयी परियोजना जो बन कर आपके शासन काल में पूरी हुई उनको अपनी उपलब्धि बताते आप को लाज न आयी .

अरे ,राजन ऐसा भी क्या असत्य भाषण ?

अपने को खुद कौरव मान लिया ये कहते हुए कुछ निराशात्मक सोच वाले लोग निराशा फैलाते हैं . आपने महाभारत के शल्य का उदहारण दिया .

अपने आप को कर्ण घोषित कर मान लिया, आप असत्य के साथ हैं इस सच के लिए वाकई देश आपका आभारी रहेगा विशेष रूप से में .

सत्य जिव्हा पर आ ही जाता हैं .

यकीन जानिये कल राहुल गांधीजी का इशारा अपने ऊपर मत लेना लेकिन चोपट राजा  ?

सचिन पायलेट का काफिला बढ़ता चला जा रहा हैं ,अन्नदाताओं का साथ ,अब हाथ के साथ
Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Leave A Reply

Your email address will not be published.