Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

क्या मोदी सरकार की दाउद इब्राहिम से अन्दर खाने साठ गाँठ हैं ?

आज तक क्यों नहीं मिला दाउद ,कही मिली भगत तो नहीं

0 420

 

कुछ दिन पहले राज ठाकरे ने मुंबई में दावा किया था की केंद्र सरकार से दाउद की भारत आने के बारे में बात चल रही हैं . बातो की गुंजाइश वहां ही होती हैं जहाँ आपस में अंदरखाने याराना हो

दाउद के नाम पर मोदी ने लोकसभा चुनावों में उसे लाने का अपना जूमला परांठा खूब सेंका . जनता सवेदना भरी होती हैं . बस  .आ गयी बातो में .

आज तक पर पुन्य प्रसून वाजपेयी के ये शब्द

20 साल पहले 12 मार्च 1993 के दिन सिर्फ दो घंटे 12 मिनट में मायानगरी मुंबई ने 12 धमाके झेले. इन धमाकों ने 257 लोगों की जानें गईं और करीब 700 लोग जख्‍मी हुए.

देश में आतंक का यह पहला और उस समय तक का सबसे बड़ा हमला था. इसी हमले के बाद अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहिम पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की गोद में जा बैठा.

उन पुराने दिनों में आप सबको ले जाएँगे .

293 लोग बोम्बे के इन बम धमाको में मारे गए थे . साम्प्रदायिकता का उबाल पूरे देश में था ,गोधरा हो या मुंबई उसके जिम्मेवार लोगो ने देशवासियों की जाने ली थी .

हाल ही की एक घट्ना  हुई जिस पर कांग्रेस ने सवाल उठाये हैं .

विकास की फ़िक्र को जुमलो के धुएं में उड़ाते नज़र आये; पी.एम् मोदी

ये जानकारी इकबाल इब्राहिम कासकर द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद जांचकर्ताओं को यह बताने के एक दिन बाद आई है कि उसकी भाभी महजबीं शेख 2016 में अपने पिता सलीम कश्मीरी से मिलने आई थी और फिर चुपचाप लौट गई.

गृहमंत्रालय क्या सो रहा था . या अंदर  ही अन्दर कोई पुराना रिश्ता था जिसने आडवानी को पकिस्तान जा कर रोने पर मजबूर कर दिया था ?
सरकार की जांच एजेंसियों पर निशाना साधते हुए कांग्रेस नेता  सुरजेवाला ने सवाल उठाया, “सीबीआई  क्या कर रही थी?

रिसर्च एंड एनलिसिस विंग क्या कर रही थी?”
सुरजेवाला ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, “कई आतंकवादी घटनाओं में वांछित एक अपराधी की पत्नी अपने पिता से मिलने भारत आती है और फिर चली जाती है.

बी.एच यू पर छात्राओं का धरना ,प्रोक्टर बोले अभी पी एम् का दौरा हैं !

उसे गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया?

उसके खिलाफ कोई कदम क्यों नहीं उठाया गया?”
उन्होंने कहा कि चौंका देने वाला यह खुलासा मुंबई की ठाणे पुलिस ने किया है.
उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और गृह मंत्री को इस पर जवाब देना चाहिए.
पूर्व एन्काउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा के नेतृत्व वाली ठाणे फिरौती वसूलने के  के लिए बने  सेल की एक टीम ने मंगलवार तड़के इकबाल को गिरफ्तार किया था.

अब इन सब बातो से लगता हैं ज़रूर दाउद का कोई न कोई राजनैतिक कनेक्शन भाजपा सरकार के साथ हैं ?

सावधान मोदी मीडिया ,राहुल गाँधी के बारे में दुष्प्रचार बंद करो ?
You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.