बिना ऑक्सीजन के 30 बच्चों की मौत हादसा नहीं, हत्या है.- : कैलाश सत्यार्थी

59
told-murder
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बच्चों की खातिर नोबेल पाने वाले कैलाश सत्यार्थी  ने  उत्तर प्रदेश के गोरखपुर मेडिकल कालेज में हुई इस घटना को बताया हत्या:

बच्चों का बचपन संवारने की खातिर नोबेल पुरस्कार पाने वाले कैलाश सत्यार्थी ने कहा, बिना ऑक्सीजन के 30 बच्चों की मौत हादसा नहीं, हत्या है. क्या हमारे बच्चों के लिए आजादी के 70 सालों का यही मतलब है.’

भाजपा की राज्य सरकार अब इस मामले में खुद को गलत बयानी कर खुद जिम्मेवारी से भाग रही हैं .

कैलाश सत्यार्थी के twitter पर आलोचना करने से मुदा और गरम हो गया हैं . आज भाजपा दूसरी राजनैतिक पार्टीयो को राजनीती न करने की सलाह और जांच कराने की बात कह रही हैं .

सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री को चार दिन पहले  भेजी गयी ,ऑक्सीजन सप्प्लाई कंपनी का लैटर भी दिखाया जा रहा हैं जिसमे कम्पनी ने आक्सीजन सप्लाई से सम्बंधित पेमेंट की बात की हैं .

सरकार के मंत्री अलग अलग ब्यान दे रहे हैं ….

कंपनी ने कई बार  मेडिकल कॉलेज को उधार चुकाने के लिए चिट्ठियां लिखी थी
छह महीने से कंपनी मेडिकल कॉलेज को उधार चुकाने के लिए चिट्ठियां लिख रही थी. एक अगस्त को ही कंपनी ने गोरखपुर के मेडिकल कॉलेज चिट्ठी लिखकर ये तक कह दिया था, कि अब तो हमें भी ऑक्सीजन मिलना बंद होने वाली है,पैसा चुका दो.

लेकिन पूरा अस्पताल प्रशासन सोता रहा और 10 तारीख को जैसे ही ऑक्सीजन सप्लाई रुकी, बच्चो की मौतों के बाद मेडिकल कालेज प्रशासन अपनी आँखे मलत हुआ जागा जब हड़कंप मच गया.

आशुतोष टंडन: यूपी सरकार के मंत्री आशुतोष टंडन ने कहा, ‘सीएम योगी पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं, उन्होंने मुझसे और स्वास्थ्य मंत्री से जानकारी भी मांगी है. हमने गोरखपुर से लौटकर सीएम को पूरे मामले की रिपोर्ट देंगे.’

यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, ‘विपक्ष हड़बड़ी में है और प्रदेश की सरकार जनता की सेवा के लिए प्रतिबद्ध है. दोषियों के खिलाफ यूपी सरकार कड़ी कार्रवाई करेगी.

सिद्धार्थ नाथ सिंह: राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह जब घटना की समीक्षा बैठक में शामिल होने निकले तो उन्होंने कुछ भी बोलने से साफ मना कर दिया.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के कहने पर पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, आरपीएन सिंह, राज बब्‍बर और प्रमोद तिवारी गोरखपुर मेडिकल कॉलेज पहुंचे. गुलाम नबी आजाद ने कहा,

‘योगी सरकार की नाकामी और लापरवाही से ये दर्दनाक हादसा हुआ है. इस घटना की जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ समेत स्वास्थ्य मंत्री और अन्य जिम्मेदार लोगों को इस्तीफा दें.”

सम्बंधित लेख

गोरखपुर में 30 नौनिहालों की मौत ,जिम्मेवार मेडिकल कालेज या योगी की सरकार ?

नितीश कुमार ने किया जनादेश का अपमान ,बिहार में गरजे ज्योतिरादित्य सिंधिया

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here