Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

हरियाणा भाजपा अध्यक्ष का पुत्र चला था “निर्भया काण्ड करने ” ,पुलिस ने छोड़ा

0 70

 son of bjp हरियाणा के सुभाष बरला के कारनामे


के 12.३० बजे एक आई ए एस पिता की पुत्री अपने घर लौट रही थी . उसका पीछा हरियाणा भाजोया के अध्यक्ष सुभाष बरला का पुत्र ;son ‘जिसकी शिनाख्त बाद में पुलिस ने की थे . उसने इस लडकी का न केवल पीछा किया लडकी के कार का दरवाज़ा खोलने की कोशिश की . वो लडकी खौफ के साए से घिर गयी . नशे में लडखडाते सुभाष बरला का पुत्र ‘son’ जब उसकी कार के दरवाज़े पर हाथ मार रहा था .

इस लड़की का पीछा चंडीगढ़ के सेक्टर ७ से शुरू हुआ और सेक्टर २६ तक किया गया . लडकी ने पुलिस को मौका रहते फोन किया और चंडीगढ़ पुलिस ने तत्परता से काम किया उन दोनों लडको को हिरासत में लिया अच्छी खासी धराये भी लगाईं गयी .  जब पता लगा की पकड़ा जाने वाला भजपा अध्यक्ष का पुत्र हैं पुलिस की धाराए बदल दी गयी . उसे जमानत दे दी गयी .

आई.ए.एस. की लड़की से छेड़छाड़ मामले में  राजनीतिक दवाब के चलते विकास बरला  पर लगाई गई धाराएं बदली जा रही है.
पहले भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला के ‘son’बेटे विकास बराला पर 365 और 511 धाराएं लगाई गई थी. जिनके तहत आरोपी को सात साल की सजा हो सकती थी, लेकिन अब इन धाराअों को हटा दिया गया है। अब 354 डी 185 मोटर वेहिकल एक्ट तथा 341 धाराएं लगाई हैं जो जमानती धाराएं हैं. जिससे साफ है कि राजनीतिक दवाब के चलते इन धाराअों को हटाया गया अौर विकास बराला अौर दूसरे आरोपी आशीष को जमानत मिली.

सोशल मीडिया पर भाजपा की काफी छिछलेदारी हो रही हैं . नारा केवल दिया जाता हैं उस पर संघ के लोग कभी अल नहीं करते . ये उनके डी एन ए में शामिल हैं . उनके लिए दुसरे व्यक्ति की माँ बहन का सम्मान नहीं तब वो शहर के आम नागरिको की मा बहन का क्या सम्मान करेंगे .?

भाजपा के दोहरे चरित्र का ये मामला अलग नहीं हैं . कुछ समय पहले इसी तरह के कुछ कमेन्ट भाजपा की नेता स्म्रति ईरानी के लिए जे एन यू के छात्रो ने कस दिए थे . पुलिस ने न केवल उन पर केस दायर किया अपियु ये कह कर उनके कास बल ढीले कर दिए . की महिला के सम्मान से कोई समझौता नहीं .

क्या केवल भाजपा ब्रांड महिलाए देश की बेटिया हैं . बाकी के देश की बेटिया नहीं ?

सम्बंधित लेख

अहमद पटेल और अमित शाह आखिर क्या हैं वज़ह निजी दुश्मनी की ?

अंग्रेजो “Quit india ” करो या मरो :जब महात्मा गांधी ने झकझोरा जनमानस

राहुल की नेहरूवियन राजनीति का विस्फोट और मोदी का संघ तंत्र : उम्मीद हैं गाँधी

 

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.