facebook
News Politics Rahul Gandhi

“separation”महागठबंधन तोड़, नितीश से किनारा करेंगे कांग्रेस और लालू

seapration-must

“separation”महागठबंधन तोड़, नितीश से किनारा करेंगे कांग्रेस और लालू


अब एक और विवाद चल रहा हैं . सरकार को ले कर ..?

separation तय हैं

जिसको भाजपा ने अपनी सरकारी एजेंसिया लगा कर महागठबंधन की एकता में सेंध लगाने का काम किया हैं .

कांग्रेस को अब इन क्षेत्री दलों की छाया से निकल अलग पहचान बनानी होगी ,वरना ये दल कांग्रेस को ले डूबेंगे .

उत्तर प्रदेश में भी कांग्रेस ने अपनी मिट्टी खराब की . सबसे ज्यादा वो लोग जिम्मेवार थे जिन्होंने उत्तर प्रदेश की जनता का मूड भांपने में गलती कर दी .

किसी भी जमीनी कांग्रेसी नेता की बात नहीं सूनी गयी वहां पर ..

प्रशांत किशोर आये चाणक्य की तरह …

लेकिन कब गायब हो गये उत्तर प्रदेश से बादल की तरह पता ही न चला ,हाँ उन्होंने ज़रूर बादल  परिवार को पंजाब से विदाई दे दी .

जहाँ राहुल की चली (अन्दर खाने की खबरे ) वहां सब कुछ ठीक रहा .

जहाँ वरिष्ठ खेमा लगा रहा ,वह बंटाधार हो के रहा कांग्रेस का .

लालू परिवार की सम्पत्तियों की बात की जा रही है जब इनका अधिग्रहण किया गया था ,

पिता के कर्मो की सजा बेटे को मिल रही हैं .

लेकिन कोई ये तो बताओ इस हमाम में नंगा कौन नहीं ?

तेज़स्वी तब उनकी उम्र 14-15 वर्ष रही होगी।

एक दाग लग गया भरी ज़वानी नितीश के साथ बैठने में लज्जा आ रही थी आज इस युवा को .

घर के अन्दर भी खूब तमाशा हुआ ,तेज़स्वी आज जब से आरोप लगे अपने आप का चेहरा बिना कोई अपराध किये शीशे में नहीं देख पा रहे .मनो व्रती कोई समझ पायेगा इस युवा की कोई ?

सियासत की तलवार बड़ी ज़ालिम होती हैं , ये तलवार केवल अपनों का खून बहाती हैं ,

लेकिन संस्कारी परिवारों का क्या ?

भाजपा अपने जासूसी में पकड़े गये लोगो के बारे में नहीं बोलती ?

व्यापम की हत्याओं का ज़िक्र नहीं होता ?

नरोत्तम मिश्र मंत्री का कही कोई सवाल नैतिकता पर नहीं उठता ?

सवाल उठता हैं तो लालू और गाँधी परिवार का .

उन पर जांच होती हैं छापे  पड़ते हैं .

कही कोई आन्दोलन नहीं होता ,क्युकी मीडिया सच्चाई नहीं दिखाता ?

बिहार भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने तेजस्वी यादव को लेकर एक ट्वीट किया है.

वो नाबालिग थे,उनकी मूंछ तक नहीं निकली थी और सुशील मोदी ने पूछा  था .

क्या कोई नाबालिग इस तरह की गड़बड़ी कर सकता है?

जिसमे उन्होंने लिखा है कि तेजस्वी प्रसाद यादव ने पहले 1000 करोड़ की बेनामी सम्पत्ति बनाने से इनकार किया,फिर बदले, एक अन्य ट्वीट में मोदी ने लिखा है कि जब कोई बिना मूंछ वाला निर्भया जैसा जघन्य अपराध कर सकता है,

तब कागजी हेराफेरी से सम्पत्ति क्यों नहीं बना सकता?

मोदी के इस ट्वीट पर लोग उन्हें निशाना भी बना रहे हैं जिनका कहना है.

कि राजनीति के लिए किसी ऐसी महिला का नाम मत घसीटों जिसके साथ ये जघन्य अपराध हुआ था। ये ट्वीट कर मोदी फंसते दिख रहे हैं लोग इस ट्वीट से काफी खफा हैं उनके खिलाफ अभद्र टिप्पणियां की जा रहीं हैं।

ज़बाब जनता देती हैं तब भी दिया था अब भी देगी .

नितीश अगर भ्रम पैदा कर रहे हैं तो उनका भाजपा के साथ रहना श्रेयस्कर हैं .

इस गठबंधन को तोड़ देना चाहिए ,साज़िश नितीश की ही हैं ,केंद्र सरकार के साथ मिल कर महागाथ्बंधान को तोड़ने की .

उनकी राजनैतिक हसरते बहुत विशाल ?

करे क्या ”

विधानसभा में राष्ट्रीय जनता दल के विधायकों की संख्या 80 है जबकि जनता दल यूनाइटेड की 71, कांग्रेस की 27 और भाजपा की 53 सीटें हैं। कुल विधायकों की संख्या 243 है। अगर नीतीश लालू का साथ छोड़ते हैं तो भाजपा के सहारे से भी उनकी सरकार नहीं बन सकती है यही कारण है कि वो चाह कर भी तेजस्वी यादव को बर्खाश्त नहीं कर पा रहे हैं।

 

 

Leave a Comment