Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

j.D.U में भी हो सकता है दो फाड़ ,तेजस्वी के कारण ?

LiveCities
0 83

j.D.U में भी हो सकता है दो फाड़ ,तेजस्वी के कारण ?


j.D.U बिहार में अगर नितीश राजनीती की बिसात पर अपने मोहरे सोच समझ कर आगे ला रहे हैं .हालांकी अंतरविरोधो को उनके नेताओं द्वारा मीडिया द्वारा फैलाया जा रहा प्रोपेगंडा कहा जाता हैं .

क्या वाकई में सच्चाई कुछ और हैं .

जो सत्ता के दरवाजो पर पड़े बड़े पर्दों के कारण बाहर नज़र नहीं आ रहे ?

कुछ और भी हैं जो नितीश को चिंतित किये हुए हैं .

इस खेल की अहम् कड़ी शरद यादव भी हैं ,जो नितीश से अन्दर ही अन्दर खफा हैं .

राजनीतिक समीक्षकों का कहना है कि नीतीश और शरद यादव के बीच मतभेद पहली बार नहीं हुआ है, इससे पहले पिछले साल अप्रैल में नीतीश ने शरद यादव से j.D.U का राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद ले लिया था, तभी से वो अंदर ही अंदर असंतुष्ट हैं, ये असंतोष तब भी दिखा था कि जब नीतीश ने नोटबंदी का समर्थन किया था।

j.D.U नेता बताते हैं कि जब से नीतीश कुमार ने रामनाथ कोविंद को समर्थन देने का ऐलान किया है, शरद यादव उनके साथ नहीं हैं .

तब से शरद यादव लगातार लालू के संपर्क में है, सीबीआई छापेमारी और उसके बाद बनी स्थितियों से ये संपर्क और ज्यादा मजबूत हुआ है. शरद यादव ने ना सिर्फ पार्टी लाइन से हटकर रास्ता अख्तियार किया, बल्कि विपक्षी पार्टियों द्वारा बुलाये गए विरोध-प्रदर्शन में शामिल भी हुए. अंदरूनी सूत्रों का  कहना है कि इस बार पार्टी में सिर्फ शरद यादव ही असंतुष्ट नहीं है,

ऐसे नेताओं की पूरी फौज है, जो नहीं चाहते हैं कि नीतीश दुबारा बीजेपी के साथ जाएं,

ऐसे नेता शरद यादव के ईद-गिर्द जुट सकते हैं.

जब नीतीश महागठबंधन से हटने का फैसला लेंगे, तो इतना तय है कि उन्हें भी नुकसान उठाना पडेगा, और रास्ता आसान नहीं होगा.
लालू यादव के ठिकानों पर जब सीबीआई की टीम ने छापेमारी की, तो सीएम चुपचाप रहे, उन्होने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

जबकि शरद यादव उन नेताओं में शामिल थे, जिन्होने छापेमारी का तुरंत विरोध करते हुए इसे राजनीतिक साजिश बताया था .

रमई राम अपने ब्यान से पलटे

बिहार में तेजस्वी यादव के इस्तीफे पर महागठबंधन में मचे घमासान पर जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के वरिष्ठ नेता रमई राम अपने बयान से पलट गए हैं.

रमई ने कहा कि उन्होंने कभी भी आरजेडी या तेजस्वी यादव को चार दिन का अल्टीमेटम नहीं दिया। उन्होंने कहा कि महागठबंधन बचाना उनका धर्म है..

रमई राम का यह बयान सोमवार (17 जुलाई) को राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव से मुलाकात के बाद आया है।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.