facebook
Crime News Politics

बंगाल से कश्मीर तक : धर्मयुद्ध में उलझा गाँधी का देश

bangaal-kashmir

बंगाल (bangaal)से कश्मीर (kashmir )तक : धर्मयुद्ध में उलझा गाँधी का देश


आज कल देश में ब्यान वीरो का सैलाब असाम के सैलाब की तरह आया हुआ हैं .

जुबानी खर्च में भला जेब से क्या जाता हैं बोल दो ,उसका परिणाम चाहे कुछ भी हो ?


इमाम बुखारी  साहब सुना हैं दिल्ली से उन्होंने एक ख़त लिखा हैं पाक को ,अब उसको मुद्दा बना कर भारतीय मुसलमान  भाइयो को निशाना बनाने की तैयारी हैं .


उत्तर प्रदेश की विधान सभा में विश्वस्तरीय विस्फोटक योगी की लाचारी हैं ,हिंदुत्व का रक्षक वीर मुख्यमंत्री जो बिना सरकारी सुरक्षा खुले में नहीं निकल सकता .VVIP बनने ,का और सुरक्षा लेने का खेल भी लाज़बाब हैं ,

सपा विधायको की बैठने वाली सीटो पर पाया जाने वाला विस्फोटक कम से कम योगी की सुरक्षा की गारंटी तो हैं .

हिन्दू भाइयो की हो न हो वो अलग बात हैं ?


अब एक रूपा गांगुली कभी महाभारत जैसे धारावाहिक शायद हिंदुत्व जगाने के लिए बनाये गए . इनके जितने भी पात्र थे वो भाजपा से जीते और एम् एल ए तक बने .

रूपा गांगुली ने कहा ममता दीदी की पार्टी के लोग पश्चिमी बंगाल में अपनी बहन बेटियों और बहुओ को छोड़ कर दिखाए उनके साथ बलात्कार हो जायेगा .

ज़बाब आना था आया कहा गया की रूपा गांगुली बताये उनके साथ कितना बलात्कार हुआ ?

दोनों ही ब्यान निंदा के काबिल हैं .महिलाओं की असीमता और इस्लाम के लोगो पर हमला हैं .

जो सही मायने में इस्लाम को जानते होंगे वो हिन्दुस्तानी मुसलमान भाई इसकी मज़म्मत करेंगे और इन के खिलाफ ऍफ़ आई आर लिखा कर इनके घर के सामने अहिंसात्मक अनशन करे .जो देश के और भी मुसलमान भाइयो को एक सन्देश और साहस देगा . इस बार जिहाद हो ज़रूर हो लेकिन गांधी जी के तरीके से ,एक मिसाल बन जाए पूरे विश्व में की ये सही मायने में मुल्क के लिए और अपनी पहचान पर लगाई जा रही कालिख को मिटाने के लिए हैं .

मजम्मत दिल्ली के इमाम की भी हो .


अब शिव सेना पीछे रह जाए ऐसा हो सकता हैं क्या ?

शिव सेना ने भी ललकारा पी एम् मोदी को की धारा ३७० हटाओ .

शिव सेना ने कहा कि अगले 8 दिनों के अंदर जम्‍मू कश्‍मीर से धारा 370 को कश्‍मीर से हटा लिया जाना चाहिए.
शिवसेना ने कहा कि यदि धारा-370 नहीं हटाई गई तो शिवसैनिक कश्मीर की सड़कों पर उतर जाएंगे.

शिव सेना प्रवक्‍ता संजय राउत ने कहा कि गौररक्षक को देश में आम लोगो को सताने के बजाए यात्रियों की जान बचाने वाले बहादुर ड्राइवर सलीम जैसा काम करना चाहिए तथा कश्मीर जाकर अमरनाथ यात्रियों की रक्षा करनी चाहिए।

देश में गौरक्षा के लिए काम कर रहे गौरक्षकों को अमरनाथ आतंकी हमलें में अपनी जान पर खेलकर लोगों की जान बचाने वाले ड्राइवर सलीम से कुछ सीखना चाहिए.


इतनी नफरते तो तब भी न थी ,अगर कुछ था तो सिर्फ और सिर्फ अफवाहे ,

जिन्होंने जिन्नाह की लीग को नेहरु के और गांधी के खिलाफ भरा था .

याद रखना जब गांधीजी की हत्या हुई थी तब पहली अफवाह ये थी ,की एक मुसलमान ने उनको मारा .

Leave a Comment