Hindi News, Today's Latest News in Hindi, News - हिन्दी समाचार

The Economist reporting some ‘Unpleasant Truth’ :-Rahul Gandhi

Azadmanoj
0 81
not-reformer
The Economist

The Economist reporting some ‘Unpleasant Truth’


‘Unpleasant Truth’ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने सोशल मीडिया पर इकोनोमिक टाइम्स के एक लेख के लिंक को ट्विटर पर कोड किया । एक मौन धारण कर सवाल मोदीजी की सरकार पर उठा दिया हैं ।

इंग्लेंड की  टॉप के साप्ताहिक संस्करण में कहा हैं की जैसे मोदी जी रिफोर्मेर या हिंदी में खे तो व्यवस्था सुधारक नज़र आते थे वैसे हैं नही । देश का मीडिया तो मोदी भक्ति के प्रसाद में भंगेड़ी हो कर देश को बस चमत्कारों या बगदादी या फिर नेताओ के स्नान ध्यान से ले कर शौच क्रिया को दिखाने में मस्त रहता हैं ।

उसकी नज़र में मोदी पूजा ही  देश भक्ती हैं ।

अब अंतर्राष्ट्रीय समाचार एजेंसिया उनके आरती  सुधारों पर सवाल उठा रहे हैं ।

हो सकता हैं भारतीय मीडिया अब देशवासियों के बीच यह भी प्रचारित करने लगे की भारत के विकास से घबरा कर विदेशी मीडिया झूठी खबर फैला रहा हैं । बहसों का दौर फिर से उग्र हो कर चलाया जाने लगे । मीडिया पर तथ्य तोड़ मरोड़ कर पेश किये जाने लगे ।

इस स्सप्ताहिक लेख में लिखा हैं की मोदी ने एक सुनहरा अवसर अपने आप ही खो दिया हैं जो देश को एक नयी दिशा  दे सकता था ।

मोदी के लिए एक अच्छा मौका था की वो देश के  आर्थिक सुधार को नयी गति और दिशा प्रदान कर सकते थे ।

पत्रिका ने ख़ास तौर पर उनके GST बिल पर सवाल उठाते हुए कहा हैं की ,उसको  काफी कोम्प्लीकेटीड,और अफसरशाही से जोड़ कर उसके अस्तित्व को पूरी तरह से समाप्त कर दिया हैं । जिससे इस बिल की कार्यक्षमता प्रभावित हुई हैं ।

 इकोनॉमिक्स टाइम्स   

की इस रिपोर्ट को लिंक पर जा कर देखा जा सकता हैं । मैगजीन ने मोदी के नोट बंदी के फैसले को देश के लिए हानिकारक बताते हुए आगे लिखा हैं की इससे उद्योग धंधो की सामान्य रूप से चल रही अर्थवयवस्था प्रभावित हुई हैं । जिसने विकास दर को दिव्यांग बना दिया हैं ।

राहुल गाँधी ने थोड़े शब्दों में पूरी मोदी सरकार को इस पत्रिका के लेख का हवाला दे कर बुरी तरह से घेरा हैं ।

राहुल गाँधी ने कश्मीर में हुई एक डी एस पी की हत्या और वह के हालत पर दुःख जताया और लिखा

Heartbreaking to see J&K being pushed back several decades because of the complete failure of the PDP/BJP Govt

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.